माल्या का 9000 के बदले 6868 करोड़ लौटाने को तैयार


नई दिल्ली। बैंकों से नौ हजार करोड़ रुपए लेकर विदेश भागने वाला शराब कारोबारी विजय माल्या ने बैंक से लिए गए ऋण को वापस करने के लिए अब 6868 करोड़ की नई डील दी है। इससे पहले माल्या ने बैंकों को 4400 करोड़ रुपए वापस करने का प्रस्ताव दिया था।

सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को सुनवाई के दौरान माल्या के वकीन ने बताया कि माल्या बैंकों को 6868 करोड़ लौटाना चाहते हैं जबकि इससे पहले माल्या ने 4400 करोड़ लौटाने का ऑफर दिया था, जिसमें इस बार 2468 करोड़ रुपए की राशि बढ़ाई है।

कोर्ट ने वकील से पूछा कि वह भारत कब लौट रहे हैं तो इस प्रश्न पर वकील ने कोई जवाब नहीं दिया। बल्कि बार बार यही कहता रहा कि यह माल्या की तरफ से बहुत अच्छा प्रस्ताव है जिसे बैंकों को मान लेना चाहिए है।

माल्या की ओर से यह भी दलील दी गई कि तेल की कीमतों में वृद्धि, ज्यादा टैक्स और खराब इंजन के चलते उनकी किंगफिशर एयरलाइन्स को 6,107 करोड़ का घाटा उठाना पड़ा।

माल्या के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में यह भी कहा कि उनका पूरा परिवार एनआरआई है, इसलिए उनकी संपत्ति के बारे में जानकारी मांगने का भारत में किसी को कोई हक नहीं है।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने विजय माल्या के खिलाफ गैर-जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी होने से उत्साहित विदेश मंत्रालय से माल्या को भारत लाने की कार्यवाही शुरू करने का आग्रह किया है।

इस संबंध में ईडी ने विदेश मंत्रालय को पत्र भी लिखा। ईडी ने कहा कि वह सीबीआई को भी पत्र लिखेगा कि वह मुंबई अदालत से गैर जमानती वारंट के निर्देश के आधार पर राज्यसभा सदस्य को गिरफ्तार कराने के लिए इंटरपोल का रेड कॉर्नर नोटिस जारी कराए।