महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के खिलाफ एफआईआर, रेप पीडि़त महिला की जाहिर की थी पहचान


नई दिल्ली। दुष्कर्म पीड़िता की पहचान उजागर किए जाने के आरोप में दिल्ली महिला आयोग अध्यक्षा स्वाति मालीवाल के खिलाफ बुराड़ी थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है. सूत्रों ने दावा किया कि जिस एसएचओ को महिला आयोग ने नोटिस दिया था, उसी एसएचओ की शिकायत पर यह मामला दर्ज किया गया. पुलिस का कहना है कि चूंकि दुष्कर्म की घटना को लेकर जारी किए गए नोटिस में उन्होंने पीड़िता का नाम सार्वजनिक कर दिया था और इस नोटिस की एक कॉपी एक राष्ट्रीय चैनल पर भी दिखायी गयी थी. इस वजह से आईपीसी की धारा 228 (ए) के तहत स्वाति मालीवाल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया. पुलिस ने बताया कि बुराड़ी थाने में पिछले साल दिसम्बर महीने में एक किशोरी के साथ दुष्कर्म की प्राथमिकी दर्ज की गई थी. इस मामले की सुनवाई फिलहाल अदालत में चल रही थी. अदालत में सुनवाई की तारीख से ठीक पहले एक बार फिर 15 मई को किशोरी का अपहरण कर लिया गया. इसकी शिकायत परिजनों ने बुराड़ी थाने में की थी, जिसके बाद 19 मई को दूसरी प्राथमिकी दर्ज की गई.