मसूद का दावा- भारत ने मुझे पकड़ने के लिए तालिबान को दिया था ऑफर


नई दिल्ली। जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मौलाना मसूद अजहर ने दावा किया है कि भारत ने उसे पकड़ने के लिए तालिबान को पैसे की अॉफर दी थी ।1999 में कंधार में हाईजैक किए गए भारतीय विमान आईसी-814 के यात्रियों और क्रू की अदला-बदली करने के बाद भारत ने एेसी अॉफर दी ताकि वो मसूद और उसके 2 अन्य साथियों को पकड़कर उसके हवाले कर दे । अजहर ने दावा किया है कि तत्कालीन विदेश मंत्री जसवंत सिंह ने ये ऑफर तालिबान के चीफ मुल्ला अख्तर मोहम्मद मंसूर को दिया था । मुल्ला मंसूर जिसकी पिछले महीने अमरीकी ड्रोन हमले में मौत हुई है । मसूद ने लिखा कि मंसूर ने उसे बताया था कि जसवंत सिंह उससे मिलने आए थे और कहा कि आप मसूद को गिरफ्तार करके हमें सौंप दें, हम आपकी हुकूमत को मालामाल कर देंगे । जानकारी के मुताबिक , अजहर ने मुल्ला मंसूर को याद करते हुए यह सारी बातें जैश के ऑनलाइन मुखपत्र ‘अल कलाम वीकली’ में 3 जून के अंक में लिखी हैं। अजहर इसमें सैदी नाम से लिखता है। इसमें उसने सारी बातों का जिक्र करते हुए लिखा कि 31 दिसंबर 1999 को कंधार स्वैप में अजहर और उसके साथियों मुश्ताक अहमद जरगर और अहमद उमर सईद शेख को जब रिहा किया गया था तब मंसूर ही कंधार एयरपोर्ट पर अजहर को लेने आया था ।