मसूद अजहर पर निराश भारत ने कहा, हम भुगत रहे हैं खतरनाक अंजाम


वाशिंगटन। भारत ने पठानकोट आतंकवादी हमले के मुख्य षड्यंत्रकर्ता और जैश ए मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र समिति में सूचीबद्ध करने के उसके आवेदन पर तकनीकी रोक लगाए जाने पर निराशा जाहिर की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा कि हम निराश हैं कि आतंकवादी नेता मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की उस समिति में सूचीबद्ध करने के भारत के आवेदन पर एक तकनीकी रोक लगा दी गई है जिसकी स्थापना संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद प्रस्ताव नम्बर 1267, 1989 और 2253 के तहत हुई है।

उन्होंने कहा कि यह भारत की समझ से परे है कि पाकिस्तान स्थित जैश ए मोहम्मद को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उसकी ज्ञात आतंकवादी गतिविधियों के लिए सूचीबद्ध किया गया था लेकिन समूह के मुख्य नेता, वित्तपोषक और प्रेरक को सूचीबद्ध करने पर तकनीकी रोक लगा दी गई है। स्वरूप ने कहा कि हाल में दो जनवरी को पठानकोट में हुआ आतंकवादी हमला यह दिखाता है कि अजहर को सूचीबद्ध नहीं करने का खतरनाक दुष्परिणाम भारत भुगत रहा है।