मनमोहन के लिए कांग्रेस लड़ेगी कानूनी लड़ाई, पार्टी ने मार्च निकाला


– मनमोहन की ईमानदारी पर कोई सवाल नहीं उठता : सोनिया
नई दिल्ली।कोयला आवंटन मामले में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन िंसह को कोर्ट द्वारा बतौर आरोपी समन जारी किए जाने पर उनके समर्थन में गुरुवार को कांग्रेस ने एकजुटता दिखाते हुए मार्च निकाला। यह मार्च कांग्रेस दफ्तर से मनमोहन िंसह के आवास तक निकाला गया। पार्टी की मुखिया सोनिया गांधी ने इसका नेतृत्व किया, जिसमें दल के सभी शीर्ष नेता शामिल हुए। पूर्व प्रधानमंत्री ने भी अपने घर से बाहर आकर सभी नेताओं से मुलाकात कर बातचीत की।
मार्च के बाद सोनिया गांधी ने कहा कि मनमोहन िंसह की ईमानदारी पर कोई सवाल ही नहीं उठता। वे दुनिया भर में बेहद सम्मानित व्यक्ति हैं। कांग्रेस मजबूती से उनके साथ है। उनके समर्थन में पार्टी लड़ाई लड़ेगी। पार्टी ने तय किया है कि इस मसले पर पार्टी कानूनी रूप से लड़ाई लड़ेगी।
दरअसल, सोनिया गांधी ने इस मुद्दे पर पार्टी की आपात वा\कग कमेटी की बैठक बुलाई थी। कांग्रेस दफ्तर में सुबह साढ़े नौ बजे बैठक शुरू हुई, जिसमें सोनिया गांधी कांग्रेस कार्य समिति के सदस्यों और दोनों सदनों के सांसदों से मिलीं। पार्टी के सभी बड़े नेता कांग्रेस इसमें पहुंचे। बैठक में वा\कग कमेटी के वरिष्ठ रणनीतिकारों ने मनमोहन के खिलाफ केस और अहम मसलों पर रणनीति तैयार करते हुए िंसह के समर्थन में पार्टी दफ्तर से उनके आवास तक मार्च निकालने का निर्णय लिया। बैठक में पार्टी के सीनियर लीडर और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन िंसह शामिल नहीं हुए।