‘भारत माता की जय’ बोलना सिखाना पड़ता है: भागवत


नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयं सेवक (आरएसएस) प्रमुख मोहन भावगत ने जेएनयू मामले पर पहली बार चुप्पी तोड़ी है। भागवत ने तंज कसते हैं हुए कहा कि आजकल देश में भारत माता की जय बोलना लोगों को सिखाना पड़ता है। भागवत ने कहा कि ऐसा नहीं बोलने वालों की संख्या ज्यादा है। जेएनयू विवाद पर अब तक भागवत की ओर से कोई बयान नहीं आया था। जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया की गिरफ्तारी से भड़के कई छात्र इसे लेकर संघ को निशाना बनाते रहे हैं। कई छात्रों ने इसे संघ का छिपा एजेंडा करार दिया। जेएनयू-कन्हैया विवाद को लेकर विपक्ष पहले ही मोदी सरकार पर हमलावर है। इसे लेकर संसद से सड़क तक संग्राम छिड़ा हुआ है। ऐसे में भागवत का ये बयान आग में घी का काम कर सकता है।