भारत के सबसे बड़े आयुध डिपो में भीषण आग, 20 की मौत


नागपुर। पुलगांव में केंद्रीय आयुध डिपो में आज तड़के लगी भीषण आग के कारण दो युवा सैन्य अधिकारियों समेत कम से कम 18 सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि इस आग में दो अधिकारी और रक्षा सुरक्षा कोर (डीएससी) के 17 जवान झुलस गए जिनमें से कुछ की हालत गंभीर है। सैन्य अधिकारी ने कहा, ‘‘एक शेड में लगी मुख्य आग पर काबू पा लिया गया है। स्थिति को स्थिर करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस घटना के कारण और कहीं आग लगने या विस्फोट होने की संभावना से अभी इनकार नहीं किया जा सकता।’’ पुलगांव में केंद्रीय आयुध डिपो भारत का सबसे बड़ा आयुध डिपो है। पुलगांव नागपुर से 110 किलोमीटर दूर है। वहीं वहां रह-रह कर धमाकों की आवाज आ रही है। गांव वालों को सुरक्षित जगह पर भेज दिया गया है। आयुध भंडार की आग में डिप्टी कमांडेंट बुरी तरह जख्मी हो गए हैं, उन्हें ICU में श‍िफ्ट किया गया है। इस आगजनी में एक CO समेत दो और ऑफिसर भी घायल हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को महाराष्ट्र के वर्धा जिला स्थित केंद्रीय हथियार डिपो (सीएडी) में लगी आग में लोगों के मारे जाने पर दुख जताया। मोदी ने कहा कि उन्हें लोगों के असमय मारे जाने से दुख है और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को डिपो का दौरा करने के लिए कहा है। मोदी ने ट्विटर पर लिखा, “मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थन करता हूं।” उन्होंने कहा, “मनोहर पर्रिकर को हालात का जायजा लेने के लिए कहा है।” देश के सबसे बड़े हथियार डिपो में सोमवार देर रात लगी भयंकर आग में 15 लोगों की मौत हो गई और अन्य 19 लोग घायल हो गए।