बेटे द्वारा एक्सीडेंट में जान लेने की सजा पिता को दी गई


नई दिल्ली । दिल्ली में एक एक्सीडेंट के मामले में अजीब सा फैसला सुनाया गया है। इसमें बेटे की गलती की सजा पिता को दी गई है। हाल ही में 17 साल के बच्चे ने मर्सिडीज से 32 साल के सिद्धार्थ शर्मा को ठोकर मार दी थी, जिसके बाद उसकी मौत हो गई थी।

बेटे द्वारा की गई इस गलती की सजा पिता को देने के पीछे तुक यह है कि पिता ने बेटे को क्राइम के लिए उकसाया है। एक्सीडेंट के वक्त आरोपी नाबालिग था, वो शुक्रवार को ही 18 वर्ष का हुआ है। पुलिस ने लड़के को शनिवार को फिर से हिरासत में लिया है। जांच के दौरान पुलिस ने पाया कि लड़के ने इससे पहले भी इलाके में एक एक्सीडेंट किया था।

पुलिस ने पुराने हादसे के पीड़ित का भी बयान दर्ज किया है। इस मामले में भी पिता और पुत्र दोनों पर चार्जशीट दायर की जाएगी। डीसीपी मधुर वर्मा ने बताया कि पिता को आईपीसी की धारा 109 व 304(2) के तहत गिरफ्तार किया गया है। आरोपी के पिता ने बेटे को एक बार भी रोकने की कोशिश नहीं की।

ये एक तरह से क्राइम के लिए उकसाना ही है। दूसरी ओर ट्रैफिक पुलिस ने बताया कि इस मर्सिडीज पर तीन बार मामला दर्ज हो चुका है। सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक बीते सोमवार रात 9 बजे सिद्धार्थ सड़क पार कर रहा था। तेज रफ्तार से आ रही मर्सडीज से सिद्धार्थ ने बचने की कोशिश की, लेकिन वह कार की चपेट में आ गया।

टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि सिद्धार्थ हवा में उछल गया। पुलिस के मुताबिक, कार की रफ्तार करीब 100 km/h थी। हादसे के बाद गाड़ी फुटपाथ पर चढ़ गई और फ्रंट का टायर फटने के कारण गाड़ी रुक गई।