बीजेपी के स्थापना दिवस पर नहीं पहुंचे आडवाणी


नई दिल्ली। बीजेपी के ३५वां स्थापना दिवस पर पार्टी के संस्थापक सदस्य लाल कृष्ण आडवाणी का नहीं पहुंचना हर किसी के लिए चौंकाने वाला वाकया रहा। इस मौके पर पार्टी मुख्यालय में एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया गया, लेकिन सूत्रों की मानें तो पार्टी की ओर से आडवाणी को कार्यक्रम का औपचारिक न्योता भेजा ही नहीं गया। चर्चा ये भी है कि आडवाणी को महज एसएमएस से समारोह में आमंत्रित किया गया। दिल्ली में पार्टी स्थापना दिवस समारोह की अध्यक्षता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने की। बहरहाल आडवाणी के नजर ना आने से चर्चाओं का बाजार गर्म है। पार्टी के संस्थापक सदस्य आडवाणी क्यों नहीं पहुंचे, इस पर कयासबाजी का दौर जारी है। क्या उन्हें नहीं बुलाया गया या फिर वह बुलाए जाने के बावजूद नहीं पहुंचे। हाल ही में बेंगलुरु में हुई बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में भी आडवाणी ने भाषण नहीं दिया था। पार्टी की गुजारिश को अनसुना करते हुए उन्होंने भाषण देने से इनकार कर दिया था। एक पार्टी प्रवक्ता ने ये भी कहा कि उनके भाषण की जरूरत नहीं थी। इससे पहले २०१३ में वह खराब तबीयत का हवाला देकर गोवा में हुई बैठक में शामिल नहीं हुए थे। तब पीएम उम्मीदवार के तौर पर नरेंद्र मोदी के नाम का ऐलान होना था, लेकिन नाराज आडवाणी बैठक से नदारद रहे।