बिहार में संविधान का उड़ रहा है मजाकः नीतीश


नई दिल्ली। बिहार में सियासी लड़ाई चरम पर पहुंच गई है। नीतीश कुमार ने बिहार के राज्यपाल पर निशाना साधते हुए कहा है कि वो बिहार के विकास में मुश्किल खड़ी कर रहे हैं। नीतीश ने कहा कि बिहार में संविधान का खुला मजाक उड़ाया जा रहा है, माहौल खराब कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बहुमत का प्रदर्शन पटना में हो चुका है और हम सब दिल्ली मे मौजूद हैं। दलबदल का खुला खेल चल रहा है। एक-एक आदमी से बात करने की कोशिश की जा रही है। वहीं मांझी गुट के विधायक राजीव रंजन सिन्हा का दावा है कि दिल्ली में १०८ विधायक ही नीतीश के साथ हैं। इस्लामपुर के विधायक राजीव रंजन की माने तो नीतीश विधायक टूट कर मांझी के साथ न मिल जाए इसी डर से दिल्ली गए हैं क्योंकि अभी राज्यपाल ने कोई फैसला नहीं दिया है ऐसे में राष्ट्रपति के पास जाने का कोई मतलब ही नहीं निकलता है। राजीव रंजन का यह भी दावा है कि मांझी के पास बहुमत है। वहीं बीजेपी ने नीतीश कुमार पर हमला बोला है। बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा है कि राज्यपाल समय देते हैं पार्टी को, लेकिन यहां उल्टे जेडीयू ने राज्यपाल को ४८ घंटे का समय दिया है। सत्ता के लिए बेचैनी बहुत देखी है पर ऐसी नहीं देखी। अभी मांझी और नीतीश जी में किसके पास बहुमत है ये सड़क पर नहीं सदन के पटल पर ही तय होगा।