बिहार में नक्सली हमला, ट्रेनों का परिचालन ठप  


– जमशेदपुर में अलर्ट घोशित
जमशेदपुर। बिहार में झाझा के पास नक्सलियों ने बड़ी वारदात को अंजाम दिया। शुक्रवार देर रात यहां नक्सलियों पुलिस और रेल पुलिस के सारे दावों को धता बताकर भलुई हॉल्ट की केबिन पर कब्जा कर लिया। इससे किऊल हावड़ा रूट की ट्रेनों का परिचालन पूरी तरह ठप हो गया। मामले की गंभीरता का देखते हुए टाटानगर (जमशेदपुर) में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। नक्सलियों की कार्रवाई एक दिवसीय बंदी के तहत की गई मानी जा रही है। नक्सलियों ने केबिनमैन दिनेश प्रसाद और पोर्टर चंद्रिका प्रसाद को गोली मारने की धमकी देकर अपने कब्जे में कर रखा है। ट्रेनों का आवागमन रात १०.५५ से ठप होने के कारण अप और डाउन की ट्रेनें जहां की तहां खड़ी रहीं। एसपी रेलवे उमाशंकर प्रसाद िंसह ने बताया कि रेल यातायात फिर से सुचारु कराने के लिए एसपी लखीसराय से मदद मांगी गई है, लेकिन रात एक बजे तक पुलिस कुछ नहीं कर सकी है।

२० नक्सलियों बोला धावा
रात लगभग पौने ग्यारह बजे बीस से अधिक हथियार बंद नक्सली भलुई हॉल्ट पहुंचे और केबिन मैन और पोर्टर को सिग्नल देने पर मारने की धमकी दी। नक्सलियों के इस कार्रवाई के बाद रात १.१५ बजे टाटानगर में चेन्नई-गुवाहाटी एक्सप्रेस को रोकने की तैयारी में रेल अफसर जुट गए। यह ट्रेन ३.३५ के आसपास टाटानगर आती है। जबकि बिलासपुर- पटना एक्स. को चक्रधरपुर में रोकने की तैयारी की जा रही थी।