राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ बजट सत्र शुरू


नई दिल्ली। संसद का बजट सत्र आज से शुरू हो गया है। बजट सत्र पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अपने अभिभाषण में कहा है कि किसानों की समृद्धि देश की खुशहाली के लिए बेहद जरुरी है। उन्होंने कहा कि पीएम जनधन योजना दुनिया की सबसे कामयाब योजना है। सरकार का काम गरीबों की उन्नति, किसानों की समृद्धि और युवाओं को रोजगार देना है और इस दिशा में वह तेजी से आगे बढ़ रही है। कम प्रीमियम पर अब किसानों को ज्यादा मुआवजा मिलेगा। किसानों को कम प्रीमियर पर अब बेहतर फसल बीमा की सौगात दी गई है। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि उनकी सरकार का विकास सिद्धांत ‘सबका साथ, सबका विकास’ में निहित है और यही सरकार का मूलभूत सिद्धांत है । और सरकार का सर्वोपरि लक्ष्य गरीबी उन्मूलन है, गांधीजी ने गरीबी को हिंसा का सबसे बुरा रूप बताया था । राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार देश की सुरक्षा से संबंधित सभी चुनौतियों से निपटने के लिए कृत संकल्प है और आतंकवाद रूपी विश्वव्यापी खतरे को पूरी तरह से समाप्त करने के लिए वैश्विक स्तर पर आतंकवाद विरोधी कठोर उपाए किये जाने की आवश्यकता है। सरकार संसद के सुचारू और रचनात्मक कार्य संचालन के लिए निरंतर प्रयासरत है और उन्होंने सभी सांसदों से अपील की कि वे सहयोग और आपसी सद्भाव के साथ अपने उत्तरदायित्वों का निर्वहन करें । राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार निर्भीक और सक्रिय विदेश नीति जारी रखे हुए है जिसका मुख्य उद्देश्य भारत के लिए पूंजी, प्रौद्योगिकी, संसाधन, उर्जा और कौशल की उपलब्धता बढ़ाकर राष्ट्रीय विकास को गति प्रदान करना है । राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना में सुधार किया है जिससे मजदूरी के प्रभावी संवितरण, अधिक पारदर्शिता एवं उत्पादक परिसम्पत्तियों का सृजन सुनिश्चित किया जा सके । प्रणब मुखर्जी ने कहा कि लगातार अशांत वैश्विक अर्थव्यवस्था में भी भारत में आर्थिक स्थायित्व बना हुआ है और सकल घरेलू उत्पाद में वृद्धि हुई है। इसने बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के मध्य भारत को विश्व की सबसे अधिक गतिशील अर्थव्यवस्था बनाया है। सरकार ने जब से कार्यभार संभाला है, उर्जा की कमी 4 प्रतिशत से घटकर 2.3 प्रतिशत हो गई है और सरकार का लक्ष्य 2018 तक सभी गांवों को बिजली पहुंचाना है । हमारे संविधान की पहली प्रतिबद्धता समावेशन के साथ सामाजिक न्याय है और सरकार की प्राथमिकता गरीब तथा पिछड़े हैं । सरकार ने अनुसूचित जाति और जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम को और प्रभावी बनाने के लिए उसमें संशोधन किये हैं ।उन्होंने कहा कि समाज के हर नागरिक तक सुविधा पहुंचाने की कोशिश कर रही है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2 करोड़ घर बनाए गए। युवाओं को रोजगार देने की दिशा में सरकार का काम उल्लेखनीय है। सरकार गरीबों की उन्नति और किसानों की खुशहाली के लिए काम कर रही है। सरकार लोगों की बुनियादी जरूरतों को पूरा कर रही है। सरकार ने सबका साथ, सबका विकास के आधार पर काम किया है। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उम्मीद जताई कि संसद के बजट सत्र के दौरान जनता से जुड़े मुद्दों पर व्यापक चर्चा होगी।