फिर भड़का जाट आंदोलन : 6 बसों में लगाई आग, हाईवे बंद


सोनीपत। हरियाणा में जाट  आरक्षण  को लेकर चल रहा आंदोलन सोमवार को भी जारी है। सोनीपत में जहां आंदोलनकारियों ने 6 बसों में आग लगा दी वहीं रोहतक से भी हिंसा की खबर है। जबकि दिल्ली-चंडीगढ़ हाईवे फिर से बंद कर दिया गया है, हालांकि कुछ समय के लिए यहां आवाजाही हुई थी। इससे पहले कल रविवार (21 फरवरी) को  हरियाणा में जाट समुदाय की आरक्षण की मांग की समीक्षा के लिए केंद्रीय मंत्री के अधीन एक समिति गठित करने की भाजपा की घोषणा के बाद आंदोलनकारियों ने राज्य के विभिन्न हिस्सों में नाकेबंदी हटानी शुरू कर दी थी और हिंसाग्रस्त राज्य में जनजीवन सोमवार (22 फऱवरी) को फिर से सामान्य होने लगा था। कई दिनों तक जनजीवन अस्त व्यस्त रहने के बाद कैथल समेत कुछ शहरों में हालात सामान्य हुआ है और अधिकारियों ने अन्य प्रभावित क्षेत्रों में भी स्थिति में उल्लेखनीय सुधार आने की उम्मीद व्यक्त की है। अधिकारियों ने कैथल और इसके निकटवर्ती कस्बे कलायत से रविवार (21 फरवरी) को कर्फ्यू हटा लिया। जाट आंदोलन के मुख्य केंद्र रोहतक में अब भी कर्फ्यू लगा हुआ है। वहां पिछले 24 घंटे के दौरान हिंसा और आगजनी की किसी घटना की सूचना नहीं मिली है। रोहतक के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘रोहतक में पिछले 24 घंटों में कोई बड़ी अप्रिय घटना नहीं हुई और रविवार रात स्थिति शांतिपूर्ण रही। उन्होंने कहा कि हालांकि रोहतक में कुछ स्थानों पर अब भी सड़क पर नाकेबंदी है, दिन में हालात सुधरने की उम्मीद है।” रोहतक जिला प्रशासन के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘रोहतक के बाहरी इलाकों में कुछ स्थानों पर नाकेबंदी है लेकिन शहर में हालात सामान्य है।