प्रियंका का विवादास्पद घर देखने शिमला पहुंची सोनिया


शिमला। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनकी पुत्री प्रियंका गांधी शिमला की निजी यात्रा पर हैं। इस दौरान उन्होंने शिमला के छराबड़ा में बन रहे प्रियंका गांधी का मकान का निरीक्षण किया। सोनिया गांधी दिल्ली से प्रियंका के साथ विमान से चंडीगढ़ पहुंची और सड़क मार्ग से शिमला आई। सोनिया गांधी मकान के निर्माण स्थल पर करीब दो घंटे रहीं। हालांकि प्रियंका गांधी उनके जाने के बाद भी काफी देर तक वहां रूकी रही। जिसके कारण एनएसजी ने विला के आसपास के समूचे इलाके को घेर लिया था। विला उच्च सुरक्षा वाले क्षेत्र में राष्ट्रपति के ग्रीष्मकालीन आवास द रिट्रीट के नजदीक है।
गौरतलब है कि प्रियंका गांधी वाड्रा हिमाचल प्रदेश में अपना आशियाना बनवा रही हैं। बताया जाता है कि प्रियंका और रॉबर्ट के इस घर का काम पूरा होने को है। २००७ में प्रियंका ने इसे खरीदा था। सोनिया गांधी अपनी बेटी के घर को देख कर संतुष्ट ऩजर आर्इं। उन्होंने बेटी के साथ काफी वक्त गुजारा और सेब के पेड़ों को भी देखा। उनके इस घर को लेकर कई विवाद भी रहे हैं। जैसे प्रियंका गांधी को मकान बनाने के लिए तत्कालीन हिमाचल सरकार ने लैंड रिफॉम्र्स एक्ट के सेक्शन ११८ के तहत नियमों में ढील दी थी। इस सेक्शन के तहत हिमाचल प्रदेश से बाहर रहने वाले लोग जमीन नहीं खरीद सकते थे परन्तु हिमाचल सरकार द्वारा नियमों में ढील दिए जाने के बाद उन्होंने यह जमीन खरीदी।
मकान के इंटीरियर डिजाइन के लिए प्रियंका ने दिल्ली की एक नामी इंटीरियर डिजायनर को हायर किया है। प्रियंका गांधी का ड्रीम हाउस हिमाचल प्रदेश के छराबड़ा गांव में बन रहा है, जो शिमला से १३ किलोमीटर की दूरी पर है। इस जगह की ऊंचाई समुद्र तल से ८ हजार फीट है। चारों तरफ हरियाली तथा प्राकृतिक सुंदरता बिखरी हुई है। मकान के चारों तरफ पाइन के खूबसूरत पेड़ हैं। २००८ में इस मकान का निर्माण कार्य शुरु हुआ। परन्तु शुरुआत में इसे बनाने वाली वंâपनी का काम प्रियंका गांधी को पसंद नहीं आने पर बना हुआ मकान ध्वस्त करवा दिया गया। इसके बाद उन्होंने मकान का फिर से वंâस्ट्रक्शन कार्य आरंभ करवाया।