पाटीदारों का ‘गुजरात बंद’ निष्फल


महेसाणा, अहमदाबाद और सूरत में बंद का कोई असर नहीं : संवेदनशील क्षेत्रों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था
उत्तर गुजरात में बस सेवा बंद
अहमदाबाद। पाटीदारों का ‘गुजरात बंदÓ निष्फल रहा। महेसाणा, अहमदाबाद और सूरत में बंद का कोई असर दिखाई नहीं दिया। रविवार को जेल भरो आंदोलन के दौरान अचानक हिंसा भड़कने के बाद पाटीदारों द्वारा सोमवार को गुजरात बंद का ऐलान किया गया था। पाटीदार आंदोलन को ध्यान में रखते हुए प्रशासन द्वारा कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गयी थी। सोमवार को बंद का कोई असर दिखाई नहीं दिया। राज्य में जनजीवन सामान्य रहा। छिटपुट घटनाओं को छोड़ कहीं से किसी अप्रिय घटना की जानकारी नहीं मिली है। महेसाणा और सूरत में शांति व्यवस्था बनी रही। उत्तर गुजरात में एस टी बस सेवा बंद कर दी गयी। संवेदनशील क्षेत्रों में सुरक्षा चौकस कर दी गयी है। रविवार को जेल भरो आंदोलन के दौरान भड़की हिंसा का महेसाणा, अहमदाबाद, सूरत सहित पूरे राज्य में असर देखा गया। महेसाणा में स्थिति काबू से बाहर होते देख कफ्र्यू लगा दिया गया था। सोमवार को स्थिति नियंत्रण में होने के बाद कफ्र्यू हटा लिया गया। रविवार को महेसाणा सहित राज्य के कई शहरों में मोबाइल इंटरनेट बंद कर दिया गया था। महेसाणा में जेल भरो आंदोलन का असर पूरे राज्य में दिखाई दिया। रविवार को अहमदाबाद में हिंसा की छिटपुट वारदार के बाद सोमवार को स्थिति सामान्य रही। अहमदाबाद से उत्तर गुजरात की ओर जाने वाली एसटी बसों को बंद कर दिया गया है। रविवार को अहमदाबाद के मेट्रो रेल प्रोजेक्ट में भी भीड़ द्वारा तोडफ़ोड़ किए जाने की जानकारी मिली है। पाटीदार और पुलिस के आमने-सामने आने से स्थिति बिगड़ गयी थी। सोमवार को अहमदाबाद सहित राज्य में स्थिति सामान्य रही।