पाकिस्तान के पूर्व विदेश सचिव बोले- बुरहान वानी को दबाव में बताया ‘शहीद’


नई दिल्ली। कश्मीर में आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद जिस तरह से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने इस घटना पर शोक जताया और बुरहान वानी की मौत को दुखत बताया था उसके पीछे की राजनीति अब खुलकर सामने आ गयी है। पाकिस्तान के पूर्व विदेश सचिव रियाज हुसैन खोकर ने चीन की राजधानी बीजिंग में एक कार्यक्रम के दौरान पाक के दोहरे चरित्र को दुनिया के सामने उजागर कर दिया। उन्होंने कहा कि हिजबुल के कमांडर को पाकिस्तान ने भारी दबाव में आकर शहीद बताया था। कश्मीर में सुरक्षा जवानों से मुठभेड़ में मारे गये बुरहान की याद में 19 जुलाई को काला दिवस मनाया जाने की योजना के पीछे भारी दबाव था। रियाज हुसैन ने कहा कि शुरुआत में पाकिस्तान ने इस घटना पर बहुत ही सधी हुई प्रतिक्रिया दी थी लेकिन मीडिया और लोगों के दबाव के आगे सरकार को अपना रुख बदलने पर मजबूर होना पड़ा और इसे भावनात्मक मामला बताकर बुरहान को शहीद घोषित किया गया।रियाज ने कहा कि भारत और पाक को इन हालातों से पार पाना होगा और इसे हात से बाहर नहीं जाने देना है। लेकिन हमारे लिए इस मुद्दें को अंतर्राष्ट्रीय मंच की नजर में लाना मजबूरी था। उन्होंने कहा कि बुरहान को हर कश्मीरी पाकिस्तानी शहीद मानता है।