पठानकोट हमले के बाद बैकफुट पर सरकार


नई दिल्ली । पठानकोट एयरबेस हमले ने नरेंद्र मोदी सरकार को बैकपुâट पर ला दिया है जो बड़े उत्साह से अपनी विदेश नीति का बखान कर रही थी। दरअसल मेक इन इंडिया जैसी योजनाओं को अंजाम तक पहुँचाने में जुटे मोदी उद्योग जगत में भारत की छवि एक शांतिप्रिय और सुरक्षित देश के रूप में प्रस्तुत करने के प्रयास में हैं, लेकिन अब मोदी को पाक नीति में उसी पुराने ट्रेक पर लौटना पड़ेगा।
वैसे भी मोदी ने चुनावी प्रचार के दौरान आतंक पर पाकिस्तान को मुहंतोड़ जवाब देने जैसे जुमलों का जमकर प्रयोग किया था इसी कारण विपक्ष मोदी को निशाने पर ले रहा है। लेकिन सरकार में शामिल सहयोगी और आरएसएस भी मोदी को रणनीति बदलने पर म़जबूर कर सकती है। घरेलु मोर्चे पर अब मोदी को ज्यादा ध्यान देना होगा। आगामी दिनों में मोदी और नवा़ज की दो मुलाकातें विदेशों में तय बताई जा रही थीं जो अब टल सकती हैं। यदि पाकिस्तान ने पठानकोट हमलों पर कोई ठोस कदम नहीं उठाया तो मोदी सरकार को पाक नीति में नया टर्न लेना ही होगा।