पठानकोट जांच : कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का प्रदर्शन


पठानकोट। एक आईएसआई अफसर समेत पाकिस्तान का जांच दल बुलेट प्रूफ गाड़ियों में अमृतसर से पठानकोट पहुंच गया और उन्होंने वायुसेना स्टेशन के चुनिंदा स्थानों का दौरा किया। यहां जनवरी में हुए आतंकी हमले में सात जवान शहीद हो गए थे। पाकिस्तान के जांच दल के पठानकोट जाने को लेकर राजनीति भी तेज हो गई है। कांग्रेस के कार्यकर्ता आज पठानकोट में काले झंडे प्रदर्शन कर रहे हैं, वहीं दूसरी और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता भी विरोध मार्च निकाल रहे हैं। इस प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए आप नेता संजय सिंह और कपिल मिश्रा पहुंचे हैं।

संवेदनशील जगहों पर शामियाने
इसके लिए एयरबेस में सफेद, लाल और पीले रंग के शामियाने लगाए गए हैं ताकि संवेदनशील इलाकों को ढंका जा सके। सोमवार को टीम ने एनआईए के अधिकारियों से मुलाकात की थी।

एनआईए के अधिकारियों ने मुलाकात में जांच में इकट्ठा सबूतों को पाकिस्तानी टीम के सामने पेश किया। ख़बर यह भी है कि भारत सरकार पाकिस्तान से जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर की आवाज के नमूने मांग सकती है।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन
वहीं पाक जांच टीम के पठानकोट पहुंचने के विरोध में कांग्रेस के कार्यकर्ता काले झंडे लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। ये कार्यकर्ता पाकिस्तान टीम वापस जाओ के नारे लगा रहे हैं।

कांग्रेस ने उठाए सवाल
कांग्रेस ने पाकिस्तानी जांच दल में ISI के अधिकारी के होने पर सवाल उठाए हैं और पूछा है कि उसे यहां आने की इजाजत कैसे मिली?

अरविंद केजरीवाल ने साधा निशाना
वहीं पठानकोट हमले की जांच को लेकर भारत आए पाकिस्तानी जांच दल का विरोध करते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मोदी सरकार ने पाकिस्तान के आगे घुटने टेक दिए हैं। केजरीवाल ने कहा कि ISI को बुलाकर मोदी सरकार ने शहीदों की शहादत की सौदेबाजी की है। भारत के लोग ये कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।