पंकजा मुंडे पर भी गिरेगी गाज?


मुंबई । दाऊद से बातचीत और जमीन घोटाले में महाराष्ट्र के मंत्री एकनाथ खड़से के स्तीपेâ के बाद अब सरकार पर पंकजा मुंडे सहित कई दागी मंत्रियों को भी नापने का दबाब बढ़ गया है। इस सिलसिले में महिला एवम् बाल कल्याण मंत्री पंकजा मुंडे का नाम सबसे ऊपर है जो चिक्की खरीदी में अनियमितता का आरोप झेल चुकी हैं।
खाद्य एवम् आपूर्ती मंत्री गिरीश बापट पर दाल के दाम में बेवजह उछाल के लिए जिम्मेदार होने का आरोप लगा है। शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े की इंजीनियिंरग की डिग्री की सत्यता पर सवाल उठे हैं। जल आपूर्ती मंत्री बबनराव लोणिकर के चुनावी हलफनामे पर सवालिया निशान लगा है।
और गृह राज्यमंत्री डॉ. रणजीत पाटिल जमीन खरिदी में अनियमितता का आरोप झेल रहे हैं। विवादों की इस पेâहरिस्त में से कुछ आरोपों को लेकर कोर्ट में मामले भी दाखिल हो चुके हैं। बावजूद अभी तक केवल एकनाथ खड़से के अलावा बाकी एक भी विवादित मंत्री पर कार्रवाई नहीं हुई।
विपक्ष ने इसी को मुद्दा बनाकर अब राज्य की बीजेपी सरकार को घेरने का प्लान बनाया है। राज्य विधान परिषद में नेता विपक्ष धनंजय मुंडे ने सवाल उठाया है कि बाकि दा़गदार मंत्रीयों पर कार्रवाई की हिम्मत सरकार कब दिखाएगी? एकनाथ खड़से ने भी जाते-जाते महाराष्ट्र वैâबिनेट के बाकी दा़गदार मंत्रीयों के बचे होने पर सवाल उठाया था।
सुबोध०६जून२०१६