नोटबंदी के बाद 4,807 करोड़ रुपये का काला धन आया सामने


नई दिल्ली। आयकर विभाग ने नोटबंदी के एलान के बाद अपने अभियानों में 4807 करोड़ रुपये की अघोषित आय का पता लगाया है। जबकि देशभर में छापेमारी में 112 करोड़ रुपये मूल्य की नई करंसी जब्त की गई है। विभाग के सूत्रों के अनुसार 5 जनवरी तक कुल 4807.45 करोड़ रुपये की अघोषित आय का विभाग ने पता लगाया है या फिर लोगों ने खुद इसकी जानकारी दी है।सरकार को नोटबंदी लागू कर उम्मीद थी कि 3 लाख करोड़ रुपये का काला धन सिस्टम से बाहर हो जाएगा। लेकिन आयकर विभाग 5 जनवरी तक इस आंकड़ें का महज 1.6 फीसदी के कालेधन का पता लगाने में सफल हो पाया है।आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि कर अधिकारियों ने विमुद्रीकरण के बाद आयकर कानून के प्रावधानों के तहत कुल 1,138 तलाशी, सर्वे और पूछताछ अभियान चलाए, वहीं टैक्स चोरी और हवाला जैसे कारोबार के आरोपों में विभिन्न लोगों और संस्थाओं को 5,184 नोटिस जारी किए गए है। उन्होंने यह भी बताया कि इसी अवधि में विभाग ने 609.39 करोड़ रुपये के मूल्य का कैश और ज्वैलरी जब्त किए है। इनमें 112.8 करोड़ रुपये के नए नोट शामिल हैं जो अधिकांश 2,000 रुपये के नोट हैं जबकि ज्वैलरी की कीमत 97.8 करोड़ रुपये आंकी गई है।आयकर विभाग ने सीबीआई, ईडी आदि एजेंसियों को 526 केस रेफर किए ताकि वे अपने क्षेत्राधिकार के मुताबिक मनी लॉन्ड्रिंग, आय से अधिक संपत्ति, भ्रष्टाचार आदि के मामलों की भी जांच कर सकें।