नरसिंह की जगह प्रवीण : नरसिंह के खाने में मिलावट करने वाले की हुई पहचान


भारतीय पहलवान नरसिंह यादव के डोप टेस्ट में फंसने के बाद ब्राजील के रियो डी जेनेरो में पांच अगस्त से होने वाले ओलंपिक खेलों में उनकी जगह प्रवीण राणा को भेजा जा सकता है। भारतीय दल को नरसिंह यादव के डोप टेस्ट में फंसने की वजह से बड़ा झटका लगा है। नरसिंह बुधवार को राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी नाडा की अनुशासन समिति के सामने पेश होंगे। गत वर्ष वर्ल्ड चैंपियनशिप में पदक जीतने के साथ ओलंपिक कोटा हासिल करने वाले नरसिंह को भारतीय ओलंपिक संघ ने अस्थायी तौर पर निलंबित कर दिया है।

पहलवान नरसिंह यादव को रियो ओलंपिक में जाने से रोकने के लिए बड़ा षड्यंत्र रचा गया था। सूत्रों के मुताबिक, नरसिंह ने मंगलवार को उस संदिग्ध व्यक्ति की पहचान कर ली, जिसने उन्हें खाने में प्रतिबंधित दवा मिलाकर दी थी। उसके खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज कराया जाएगा। इस शख्सल पर शक है कि उसने नरसिंह के खाने में प्रतिबंधित दवाएं मिलाई थीं। यह शख्सद भी एक रेसलर ही है और वह एक मशहूर इंटरनेशनल रेसलर का छोटा भाई है। मंगलवार देर शाम इस शख्सश की पहचान हुई। सूत्रों के अनुसार, नरसिंह के खाने में मिलावट करने वाले का नाम सामने आया। नीतेश नाम के शख्स् ने खाने में मिलावट की। वाडा के नियम के अनुसार, नियम 10.4 कहता है कि यदि साजिश के तहत किसी को फंसाया गया है, तभी उसे निलंबन से छूट दी जाएगी। यदि नरसिंह पूरी तरह अपना पक्ष साबित नहीं कर सके तो उन्हें कम से कम एक साल का निलंबन झेलना होगा। नरसिंह को यदि क्लीअनचिट नहीं मिली तो उनके स्थान पर प्रवीण राणा को 74 किलो वर्ग में रियो भेजा जा सकता है। हालांकि, कुश्ती संघ और भारतीय ओलंपिक संघ ने इसकी पुष्टि नहीं की है।