दिल्ली यूनिवर्सिटी तक पहुंचा जाट आंदोलन


चंढीगढ़। जाटों के लिए ओबीसी कोटे के तहत आरक्षण की मांग कर रहे जाट नेताओं ने हरियाणा सरकार की ओर से दिए गए प्रस्ताव को ठुकरा दिया और कहा कि उनका आंदोलन मांग पूरी होने तक जारी रहेगा। हरियाणा के वरिष्ठ मंत्री ओपी धनखड़ के मकान पर आज भीड़ ने आज पथराव किया, वहीं आरक्षण की मांग को लेकर जाटों का आंदोलन राज्य के अन्य हिस्सों में फैल रहा है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि घटना में कोई घायल नहीं हुआ। उन्होंने बताया, भीड़ ने धनखड के मकान पर पथराव किया लेकिन कोई घायल नहीं हुआ। धनखड़ राज्य के प्रमुख जाट नेताओं में से एक हैं।

जाट आरक्षण आंदोलन दिल्ली यूनिवर्सिटी तक पहुंचा, जाट समुदाय के छात्रों ने नॉर्थ कैम्पस के बाहर प्रदर्शन किया। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी के जाट नेताओं से कहा कि प्रदर्शनकारियों से बात कर मामले का हल निकालें। उधर प्रदर्शनकारियों ने रोहतक में पेट्रोल पंप, सामुदायिक भवन और दुकानों में आग लगा दी है। कुछ अज्ञात व्यक्तियों ने आज जींद जिले में बूढ़ा खेड़ा रेलवे स्टेशन में आग लगा दी। पुलिस ने बताया कि रेलवे स्टेशन में आग लगाने पर फर्नीचर, रिकॉर्ड रूम और अन्य सामान जल गया। यह स्टेशन जींद पानीपत रेल प्रखंड में आता है। जींद आरक्षण की मांग को लेकर चल रहे जाट आंदोलन से बुरी तरह प्रभावित जिलों में से एक है। दिल्ली-अंबाला, दिल्ली-अमृतसर, दिल्ली-हिंसा-फजिल्का मार्ग और हिसार-धूरी खंड पर जाटों के विरोध प्रदर्शन को लेकर रेल सेवा गंभीर रूप से प्रभावित हुई है। कुल 37 ट्रेने रद्द की गई है जबकि 22 आंशिक रूप से रद्द करनी पड़ी। जाट आरक्षण की मांग को लेकर कई स्थानों पर रात में हुई ताजा हिंसा और आगजनी की घटनाओं के बीच सेना ने तनावग्रस्त क्षेत्रों में फ्लैग मार्च किया और साथ ही रोहतक के विभिन्न इलाकों तक पहुंचने के लिए हेलीकॉप्टर का उपयोग किया। राज्य के दो जिलों में पहले ही कर्फ्यू लगा दिया गया है और हिंसा करने वालों को देखते ही गोली मारने के आदेश दे दिये गए हैं। जाटों के प्रदर्शन के कारण जनजीवन बाधित है। रोहतक, जींद, भिवानी और राज्य के कई अन्य हिस्सों में सड़कें एवं रेल मार्ग बाधित है और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति भी प्रभावित हो रही है।