दलित छात्र की मौत : मंत्री बंडारू पर शिकायत को लेकर छात्र प्रदर्शन पर उतरे


हैदराबाद। हैदराबाद के वेंâद्रीय विश्वविद्यालय से पीएचडी कर रहे दलित छात्र वी रोहित विश्वविद्यालय परिसर ाqस्थत छात्रावास के अपने कमरे में रविवार को मृत पाए गए। इस पर हुए छात्र प्रदर्शन के बीच सोमवार सुबह रोहित के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया। साइबराबाद पुलिस आयुक्त सीवी आनंद के मुताबिक, परिसर में अभी ाqस्थति नियंत्रण में है। बीती रात को छात्रों ने एकजुट होकर रोहित के शव के साथ प्रदर्शन किया और नारे लगाए, जिसके कारण परिसर में हल्का तनाव पैदा बना रहा। छात्रों ने पुलिस से वेंâद्रीय मंत्री एवं भाजपा नेता बंडारू दत्तात्रेय के खिलाफ अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार कानून के तहत मामला दर्ज करने की मांग करते हुए आरोप लगाया कि उन्होंने (मंत्री ने) इन शोधार्थी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर मानव संसाधन विकास मंत्री को पत्र भी लिखा था। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। परिसर में किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है । सूत्रों ने बताया कि रोहित उन पांच शोधार्थी छात्रों में शामिल थे जिन्हें पिछले साल अगस्त में एचसीयू से निलंबित किया गया था और वह एक छात्र नेता पर हमला मामले में भी आरोपी थे। बाद में निलंबन रदद कर दिया गया था और मामले में आगे की जांच जारी है। एबीवीपी के एक छात्र नेता पर कथित हमला के लिए पांच शोधार्थी छात्रों को उनकी शेष पढ़ाई की अवधि के लिए छात्रावास से निलंबित कर दिया गया। बहरहाल, कई छात्र संघों ने सोमवार शिक्षण संस्थान बंद का आहवान किया है।