डॉ अंबेडकर के नाम पर कोसने वाले विपक्षी दलों पर बरसे मोदी


महू। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज डॉ भीमराव अंबेडकर के नाम पर उन्हें कोसने वाले विपक्षी दलों और उनके नेताओं का नाम लिए बगैर उन पर पलटवार करते हुए कहा कि ऐसे लोगों ने डॉ अंबेडकर के लिए कुछ नहीं किया और उन्हें इसके लिए पश्चाताप करना चाहिए। मोदी मध्यप्रदेश के इंदौर के पास डॉ अंबेडकर की जन्मस्थली महू में उनकी 125वीं जयंती के मौके पर ग्रामोदय से भारत उदय अभियान की शुरुआत कर रहे थे। मोदी ने मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस और कुछ अन्य दलों द्वारा पिछले कुछ समय से भारतीय जनता पार्टी पर डॉ अंबेडकर के नाम पर राजनीति करने के आरोपों पर किसी दल या नेता का नाम लिए बगैर जमकर प्रहार किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ लोग परेशान हैं कि मोदी डॉ अंबेडकर से जुडे पंचतीर्थों के लिए क्यों काम कर रहा है। उन्होंने कहा मैं कहना चाहता हूं कि ये हमारे लिए श्रद्धा का विषय है, हम मानते हैं कि डॉ अंबेडकर ने हमें सामाजिक समरसता प्रदान की। मोदी ने कहा कि अब तक सरकारें बहुत आईं, लेकिन डॉ अंबेडकर से जुड़े स्मारक बनाने का सौभाग्य मौजूदा सरकार को मिला। उन्होंने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि आप परेशान हो रहे हैं, आपको पश्चाताप होना चाहिए कि आपने ये क्यों नहीं किया।

दलितों और गरीबों के मुद्दे पर विपक्षी दलों को घेरते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कुछ लोग पिछले छह-छह दशक से खुद को गरीबों का मसीहा बता रहे हैं, उनकी जबान पर हमेशा गरीब-गरीब रहता है, उन्होंने गरीबों के लिए जो किया, उसका हिसाब चौंकाने वाला है। उन्होंने कहा कि इस हिसाब में मैं अपना समय नहीं बर्बाद करना चाहता।

उन्होंने प्रधानमंत्री जन-धन योजना का उल्लेख करते हुए पश्चिम बंगाल में पिछले दिनों सामने आए शारदा चिटफंड घोटाले का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कई बार ऐसे मामले सामने आते हैं, लोगों को धोखा दिए जाने के, ऐसा इसलिए क्योंकि बैंकों के दरवाजे गरीबों के लिए नहीं खुलते थे। लेकिन अब मौजूदा सरकार ने गरीबों के लिए बैंक खाते भी खुलवा दिए है और इससे उन्हें आर्थिक सुरक्षा का बोध हो रहा है।