ट्विटर पर शरद यादव की आलोचना


नईदिल्ली। राज्य सभा सांसद एवं जनता दल यूनाईटेड के अध्यक्ष शरद यादव की दक्षिण भारतीय महिलाओं की सुंदरता पर राज्य सभा में की गई टिप्पणी पर सोशल मीडिया में कमेंट किए जा रहे हैं। शरद यादव ने सोमवार को संसद में कहा कि वो अपने बयान पर ़कायम हैं और उसके लिए माफी नहीं मांगेंगे।शरद यादव के इस बयान को लेकर ाqट्वटर पर आई कुछ टिप्पणियां इस प्रकार हैं।किरण बेदी ने भी ाqट्वटर के ़जरिए अपने गुस्से का इ़जहार किया। उन्होंने अपने ाqट्वटर हैंडल से कहा, ”कुछ लोगों को सुधारा नहीं जा सकता, शरद यादव उनमें से एक हैं।सुहेल सेठ ने शरद यादव को सर्वâस में काम तक करने की सलाद दे डाली. उन्होंने ट्वीट किया, ठशरद यादव एक बहुत ही बड़े मूर्ख हैं. उन्हें उल्लुओं के सर्वâस में होना चाहिए राज्यसभा में नहीं बेववूâफ।सागारिक घोष ने भी शरद यादव के इस बयान से आपत्ति जताई. सागारिका घोष ने ट्वीट करते हुए कहा, ”क्या शरद यावद राज्यसभा के लायक है। ‘परकटी महिला’, ‘महिलाओं का पीछा किसने नहीं किया’ जैसे बयानों के बाद अब स्मृति ईरानी पर उनका बयान। शर्मनाक”।वहीं प्रीतीश नंदी ने उन पर अपने ट्वीट के ़जरिए कटाक्ष करते हुए लिखा, ”नहीं, शरद यादव सोqक्सस्ट नहीं हैं। उनके बात करने का तरीका ही घटिया और दोषपूर्ण है। इसके लिए उनकी पीट-पीटकर हत्या करना बहुत ही छोटी वजह है”।वहीं राजदीप सरदेसाई ने ती़खे शब्दों में उनकी आलोचना की।उन्होंने ट्वीट किया, ”तो आज के कद्दू हैं शरद यादव। लगता है उन्हें और ‘परकटी’ महिलाओं से मिलने की ़जरूरत है ।