ट्विटर पर ‘डियर’ का तड़का : मामला जोर से भड़का


स्मृति इरानी और बिहार के शिक्षा मंत्री सोशल मीडिया पर भिड़े

नई दिल्ली। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी और बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी के बीच ट्विटर पर जंग छिड़ गई है। ये जंग चौधरी के ट्विटर पर ‘डियर’ शब्द इस्तेमाल करने के बाद शुरु हुई। चौधरी ने ट्विटर स्मृति ईरानी से सवाल किया था कि नई एजुकेशन पॉलिसी कब से लागू होगी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- डियर स्मृति ईरानी जी, हमें नई एजुकेशन पॉलिसी कब मिलेगी? आपके कैलेंडर में साल 2015 कब खत्म होगा?

इस ट्वीट पर भड़की स्मृति
स्मृति ने चौधरी के ट्वीट पर सवाल उठाते हुए कहा, महिलाओं को ‘डियर’ कहकर कब से संबोधित करने लगे अशोक जी। इस पर अशोक चौधरी ने जवाब देते हुए कहा कि उन्होंने अपमान नहीं सम्मान की तौर पर इस शब्द का इस्तेमाल किया और प्रोफशनल बातचीत की शुरुआत ‘डियर’ शब्द से ही होती है। स्मृति जी, मुद्दे को गोल-गोल घुमाने से अच्छा है कभी सही जवाब भी दे दिया करिए।

क्या बोले अशोक चौधरी?
इस पर स्मृति ने जवाब दिया कि उनकी हर बातचीत में वह सभी के लिए ‘आदरणीय’ शब्द का इस्तेमाल करती रही हैं। एजुकेशन पॉलिसी के मुद्दे पर उन्होंने चौधरी को कहा कि केंद्र की ओर से बुलाई गई किसी भी रिव्यू मीटिंग में बिहार के शिक्षा मंत्री या उनके सचिव मौजूद नहीं रहे। अगर आपको सच में एजुकेशन पॉलिसी की चिंता है तो अपने व्यस्त शेड्यूल से थोड़ा वक्त इसके लिए भी निकाल लीजिए। जवाब में चौधरी ने स्मृति को घेरने की कोशिश की और कहा कि उन्होंने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरह झूठे वादे करने की कला सीख ली है। स्मृति को खुद के मंत्रालय के बारे में भी सही से जानकारी नहीं है।