टोरंटो में बोले मोदी, हमारा मिशन ‘स्कैम इंडिया’ से बदलकर ‘स्किल इंडिया’ बनाना


टोरंटो । कनाडा की यात्रा पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को टोरंटो में भारतीय समुदाय के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि हम भारत की इमेज ‘स्वैâम इंडिया’ से बदलकर ‘ाqस्कल इंडिया’ की बनाना चाहते हैं। मोदी ने कहा कि भारत में विश्वास का माहौल बना है और यहां की युवा शक्ति के दम पर हम कुछ भी हासिल कर सकते हैं।
प्रधानमंत्री ने यहां अपनी प्रâांस और कनाडा यात्रा की दो सबसे बड़ी उपलाqब्धयों के बारे में भी बताया। मोदी ने कहा, ‘मैंने अपनी इन यात्राओं के दौरान एक महत्वपूर्ण निर्णय प्रâांस और दूसरा कनाडा में किया। दो चीजें ऐसी हैं, जिसकी तरफ लोगों का ध्यान नहीं गया है। हम लोग न्यूाqक्लयर एनर्जी के लिए दुनियाभर से रिएक्टर मांगते थे। हर देश हाथ खड़े कर देता था। लंबे अर्से यह पेिंडग था। कोई देने को तैयार नहीं था। उन्हें लगता था कि कहीं हम बम न बना दें। जो बनाते हैं, उन्हें कोई रोकता नहीं है। रोक पाते भी नहीं हैं। जो गांधी का देश है, जिसने कभी किसी पर हमला नहीं किया, उनको कई सालों से रिएक्टर के लिए भटकना पड़ता है। इस बार प्रâांस की वंâपनी से एमओयू साइन हुआ है। अब वह रिएक्टर भारत में बनेगा। रिएक्टर के लिए यूरेनियम चाहिए था। यूरेनियम आपका कनाडा देगा।’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ओटावा में भव्य स्वागत किया गया। इसके बाद टोरंटो में भारतीय समुदाय के कार्यक्रम में भी पीएम का गर्मजोशी से स्वागत हुआ। कनाडा के पीएम स्टीफन हार्पर भी उनके साथ थे। भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए स्टीफन हार्पर ने कहा, ‘भारत और कनाडा की दोस्ती की हम कद्र करते हैं।’ उन्होंने कहा कि कनाडा में भारतीय कम्यूनिटी ने यहां की संस्कृति और इकॉनमी को समृद्ध किया है। उन्होंने कहा, ‘पीएम मोदी की यात्रा ऐतिहासिक है। वह देश को विश्वगुरु बनाना चाहते हैं।’ इसी कार्यक्रम में बात करते हुए पीएम मोदी ने कनाडा और पीएम हार्पर का शुक्रिया अदा किया।

– भारत को यूरेनियम की आर्पूित करेगा कनाडा
इससे पहले कनाडा के साथ संबंधों का एक नया अध्याय शुरू करते हुए भारत ने अपने असैन्य परमाणु कार्यक्रम के लिए बुधवार को करोड़ों डॉलर के यूरेनियम की आर्पूित के लिए एक समझौता किया। भारत ने कनाडा के नागरिकों के लिए वीजा ऑन अराइवल की भी घोषणा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा कनाडा के प्रधानमंत्री स्टीफन हार्पर की मौजूदगी में कमेको और भारत के परमाणु ऊर्जा आयोग ने ३५ करोड़ डॉलर के यूरेनियम आर्पूित के लिए एक समझौता किया। इस नए करार के तहत अगले पांच वर्षों में भारत, कनाडा से तीन हजार टन से ज्यादा यूरेनियम खरीदेगा। इसका इस्तेमाल भारत के परमाणु कार्यक्रम में किया जाएगा।