जेल भरो आंदोलन में उमड़े पाटीदार, महेसाणा में पथराव, लालजी पटेल हुए लहूलुहान, सूरत में लाठीचार्ज


सूरत। आरक्षण की मांग को लेकर रविवार को पूरे गुजरात में पाटीदारों द्वारा जेल भरो आंदोलन किया गया। आंदोलन में पाटीदार भारी संख्या में शामिल हुए। वराछा के मानगढ़ चौक में सरदार पटेल की प्रतिमा पर पुष्पांजलि करने के बाद जेल भरो आंदोलन की शुरुआत की गयी। पाटीदारों के भारी संख्या में आंदोलन में उमडऩे से पुलिस के वाहन कम पड़ गए। पुलिस को निजी वाहनों की मदद लेनी पड़ी। आंदोलन के दौरान पुलिस के वाहन का हवा निकालने से अचानक माहौल बिगड़ गया और पुलिस ने भीड़ पर लाठीचार्ज शुरु कर दिया।
वहीं दूसरी ओर महेसाणा में एसपीजी प्रमुख लालजी पटेल पाटीदारों को भारी संख्या में आंदोलन में शामिल होने का आह्वान कर रहे थे तभी पथराव होने लगा। पथराव में लालजी पटेल लहूलुहान हो गए। उनके सिर में चोटें आयी। पाटीदारों के जेल भरो आंदोलन को ध्यान में रखते हुए महेसाणा में मोबाइल इंटरनेट सेवा दिनभर के लिए बंद कर दी गयी। पुलिस पर पथराव किए जाने की जानकारी मिली है। स्थिति को काबू में करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े। मंत्री नितिन पटेल ने पाटीदारों से शांति बतरने की अपील की है।
पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति और सरदार पटेल ग्रुप द्वारा सोमवार को गुजरात बंद का ऐलान किया गया है।
पाटीदारों को संबोधित करते हुए लालजी पटेल ने कहा कि अनेक प्रयासों के बावजूद सरकार पाटीदारों को आरक्षण देने को तैयार नहीं है। आरक्षण के लिए पाटीदारों को एक साथ मिलकर लडऩा होगा। लालजी पटेल ने कहा कि सुसंस्कृत और शिक्षित पटेल समाज को उपेक्षा की दृष्टि से देखा जाता है। उन्होंने कहा कि अब तो बच्चे पैदा होंगे तो उनके नाम के आगे हिन्दू पटेल शब्द लिखा जाएगा। पाटीदार समाज भाजपा या कांग्रेस की जागीर नहीं है। कुछ लोग पास और एसओजी को अलग-अलग करने का खेल खेल रहे हैं। लालजी पटेल ने कहा कि आरक्षण की मांग को लेकर समाज के युवक जेलों में बंद हैं। पाटीदार उन्हें रिहा कराने के लिए जेल में जाने को तैयार हैं। मैं पाटीदारों से निवेदन करता हूं कि जेल जाने के बाद भी अपना संयम मत खोना। हम एक साथ मिलकर लड़ेंगे तो सरकार में दम नहीं है कि हमें आरक्षण न दे।
प्रशासन के इंकार के बावजूद रविवार को महेसाणा में जेल भरो आंदोलन शुरु किया गया। जिसमें लाखों की संख्या में पाटीदार शामिल हुए। महेसाणा एवं आसपास के क्षेत्रों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था तैनात की गयी है।
सूरत में पाटीदारों के जेल भरो आंदोलन में पुराने कांग्रेसी चेहरे भी नजर आए। जिसमें पूर्व विधायक एवं कांग्रेसी नेता धीरूभाई गजेरा, कांग्रेसी कार्पोरेटर अशोक जीरावाला सहित कांग्रेसी कार्यकर्ता आंदोलन में शामिल हुए।
इसके अलावा अग्रणी कानजी भालाण सहित पाटीदार अग्रणी जेल भरो आंदोलन में शामिल हुए। वराछा सहित पाटीदार बहुल क्षेत्रों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था तैनात की गयी है। पुलिस पाटीदारों को वाहनों में बिठाकर जेल ले गयी। पुलिस का वाहन कम पडऩे पर निजी वाहनों की मदद ली गयी।