जेएनयू के छह प्रोफ़ेसर हो सकते हैं गिरफ्तार


नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में देशविरोधी नारेबाजी मामले में नई जानकारी सामने आई है। इस मामले के तीन आरोपी छात्रों आशुतोष कुमार, अनंत प्रकाश और रामा नागा को छिपाने में जेएनयू के ही छह प्रोपेâसरों ने मदद की थी। इन प्रोपेâसरों को भी गिरफ्तार किया जा सकता है। पुलिस ने अभी इनके नाम का खुलासा नहीं किया है। पुलिस जेएनयू वैंâपस पहुंची और कुछ छात्र-छात्राओं से पूछताछ की। पूछताछ में करीब १५ छात्र-छात्राओं की पुष्ट जानकारी मिली है, जो ९ फरवरी की रात जेएनयू में संसद हमले के दोषी अफजल गुरू की बरसी पर आयोजित सांस्कृतिक संध्या में कार्यक्रम में शरीक हुए थे और देशविरोधी नारे लगाए थे।उनके नाम की जानकारी वीडियो पुâटेज देखकर पुलिस को पहले ही मिल गई थी। पुलिस उन्हें आरोपी बनाए जाने पर गंभीरता से विचार कर रही है। इसके बाद उनकी गिरफ्तारी तय है। सूत्रों के मुताबिक जामिया मिलिया के आधा दर्जन छात्रों के अलावा अन्य विश्वविद्यालय के भी छात्र भी आरोपी बनाए जा सकते हैं। जेएनयू के गेट पर तैनात बीएसएफ व सीआरपीएफ को हटा लिया गया है। वहां केवल दिल्ली पुलिस के ही कुछ जवानों को तैनात रखा गया है।