जासूसी कांड की आंच रिलायंस पर


नई दिल्ली। पेट्रोलियम मंत्रालय जासूसी कांड में रिलायंस समूह के अधिकारियों तक पहुंच गई है। दिल्ली पुलिस जल्द ही रिलायंस समूह के अधिकारियों से पूछताछ करने जा रही है।
दिल्ली पुलिस की जांच देश की शीर्ष वंâपनी रिलायंस के आला अधिकारी शंकर अड़वाल से इस सप्ताह पूछताछ मुमकिन है। गुरुवार को इनके दफ्तर में छापा मारकर दिल्ली पुलिस ने कम्प्यूटर जब्त किया गया है। शंकर अड़वाल की दिल्ली में रिलायंस के सर्वेसर्वा के रूप में पहचान है। अड़वाल का अप्रैल २००२ में भी सीबीआई ने ऐसे ही आरोप में गिरफ्तार किया था। उस समय वे जनरल मैनेजर थे और ग्रुप उपाध्यक्ष एएन सेतुरमन की उनके साथ गिरफ्तारी हुई थी। वह केस अभी भी न्यायालय में चल रहा है। मोदी सरकार के जानकार सूत्र बता रहे हैं कि जांच पूरी होगी। रिलायंस के गिरफ्तार अफसर ने यदि शंकर अड़वाल की गिरफ्तारी भी संभव है। सूत्रों के अनुसार रिलायंस समूह इस मामले में शंकर अग्रवाल को बचाने उच्च स्तरीय प्रयास शुरू कर दिये हैं। प्रधानमंत्री मोदी यदि रिलायंस समूह को संरक्षण देंगे तो इससे राजनैतिक बवाल होना तय है।