जम्म कश्मीर : बारिश थमी, 6 शव हुए बरामद


श्रीनगर। जम्मू में पिछले पांच दिनों से हो रही बारिश मंगलवार को थम गई है। बारिश रुकने से कश्मीर घाटी के लोगों को थोड़ी राहत मिली है। झेलम नदी भी अब खतरे के निशान से नीचे बह रही है। इससे पहले शनिवार शाम से जारी मूसलधार बारिश ने एक बार फिर पहले जैसे हालात पैदा कर दिए थे। झेलम समेत सभी प्रमुख नदी-नालों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा था और घाटी में लगभग छह पुल क्षतिग्रस्त हो जाने से कई इलाकों का संपर्वâ जिला मुख्यालयों से कट गया था। अब राहत तथा बचाव कार्य में सेना तैनात कर दी गई है। प्रदेश सरकार के साथ ही वेंâद्र सरकार भी हालात पर लगातार नजर रखे हुए है।
इस बीच, बड़गाम में हुए भूस्खलन में २१ लोग अपने माल-मवेशियों व चार मकानों समेत िंजदा दब गए। दो महिलाओं समेत छह लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं। एसपी बड़गाम पैâयाज लोन ने बताया कि हादसा पीरपंचाल की पहाड़ियों में ाqस्थत नीलनाग इलाके में हुआ है।
लेडन-नागम गांव में सुबह करीब नौ बजे अचानक जमीन धंसने लगी और पहाड़ी पर भूस्खलन से मिट्टी के बड़े-बड़े ढेर और चट्टानें नीचे गिरने लगीं। इससे चार मकान पूरी तरह मलबे में दब गए। दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में पुलिस और सीआरपीएफ की १६४वीं वाहिनी के जवान तो बच गए लेकिन उनके लिए बनी तीन मंजिला इमारत पूरी तरह क्षतिग्र्रस्त हो गई। जम्मू के राजौरी व पुंछ जिलों में बारिश से २० मकान ढह गए जबकि उधमपुर में एक व्यक्ति के मरने की सूचना है। कश्मीर में विभिन्न स्थानों पर ाqस्थत छह पुल भी बह जाने की खबर है।