जमीन बेचकर सुब्रत राय को रिहा कराएगा सहारा


नई दिल्ली।  निवेशकों के पैसे लौटाने को लेकर फंसे सहारा ग्रुप ने 14 राज्यों में 4,700 एकड़ जमीन को बेचने की योजना बनाई है। इस जमीन को एचडीएफसी रियल्‍टी और एसबीआई कैपिटल मार्केट्स की ओर से बिक्री के लिए रखा गया है। समूह को इस बिक्री से 6,500 करोड़ रुपये जुटाने की उम्मीद है। सहारा का दावा है कि उसके पास कुल 33,633 एकड़ जमीन है। इसमें से लोनावाला के नजदीक स्थित एम्‍बी वैली सिटी में 10,600 एकड़ जमीन है। सहारा की 1,000 एकड़ जमीन लखनऊ है, इसका मुख्‍यालय भी इसी शहर में है। इसी महीने की शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट ने सहारा चीफ सुब्रत रॉय और ग्रुप डायरेक्टर अशोक रॉय चौधरी को चार सप्ताह के पैरोल पर रिहा किया था। मार्च 2014 से ही सुब्रत रॉय तिहाड़ जेल में बंद हैं। सेबी ने उनके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में मुकदमा कर दिया था। कोर्ट ने आदेश दिया है कि सहारा बैंक गारंटी के तौर पर 5,000 करोड़ रुपये रखने के लिए अपनी संपत्ति बेच सकते हैं। इसके बाद उन्हें 5,000 करोड़ रुपये में जमानत मिल सकेगी।  मार्केट रेग्युलेटर सेबी ने एचडीएफसी रीयलटी और एसबीआई कैपिटल को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद देश भर में सहारा की 60 संपत्तियों की नीलामी करने की जिम्मेदारी दी है। समूह के पास उज्जैन, इंदौर, अजमेर, अलीगढ़, बहराइच, बरेली, मुजफ्फरनगर, लखनऊ, नोएडा, गुवाहाटी, सेलम, पोरबंदर और बड़ौदा में जमीनें हैं।