जनता के लिए सोशल मीडिया पर सरकार


नई दिल्ली। सरकार को सोशल मीडिया के जरिये जनता के करीब लाने की कवायद का असर दिखने लगा है। संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद और पेट्रोलियम मंत्रालय धर्मेंद्र प्रधान पेâसबुक और ाqट्वटर के जरिये सीधे जनता से जुड़ चुके हैं। उन्होंने लोगों की समस्याओं का समाधान करना भी शुरू कर दिया है। सरकारी दूरसंचार वंâपनियों की खराब सेवा से परेशान ग्राहक सीधे-सीधे प्रसाद के पास अपनी शिकायत दर्ज करा रहे हैं। रसोई गैस साqब्सडी के लिए भी लोग प्रधान तक अपनी बात पहुंचाने लगे हैं। रेल मंत्री सुरेश प्रभु पहले ही ाqट्वटर के माध्यम से यात्रियों की समस्याओं को दूर कर रहे हैं। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रियों को आम जनता की समस्याओं को सीधे सुनने और उनका समाधान करने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने का निर्देश दिया है। पीएम के निर्देश के मुताबिक मंत्रियों ने जनता की समस्याओं को सुनना शुरू कर दिया है। संचार मंत्रालय ने पेâसबुक और ाqट्वटर के जरिये शिकायत दर्ज कराने की सुविधा हाल ही में देनी शुरू की है। इसके जरिये रोजाना हजारों की तादाद में शिकायतें प्रसाद तक पहुंच रही हैं। इन शिकायतों के समाधान के लिए मंत्रालय ने कुछ अधिकारियों की टीम बना रखी है। ये अधिकारी फौरन शिकायतों पर कदम उठाना शुरू कर देते हैं।
संबंधित विभाग तक शिकायत पहुंचाने के बाद लोगों को मामले की प्रगति से भी अवगत कराया जाता है। हर विभाग को शिकायतों पर उठाए गए कदमों की रिपोर्ट मंत्री को भेजने का निर्देश दिया गया है। हाल ही में पुराने और जर्जर हो चुके पोस्ट बॉक्सों को बदलने की प्रक्रिया शुरू की गई है। संचार मंत्रालय के अधिकारी बताते हैं कि इस बारे में सोशल साइटों पर जानकारी मिलने के बाद ही कदम उठाया गया है। हाल ही में आस्ट्रेलिया के वैâनबरा से एक प्रवासी भारतीय ने अपने संबंधियों को पार्सल भेजा। वह काफी समय तक नहीं मिला। उस व्यक्ति ने इसकी शिकायत प्रसाद से की। उनके निर्देश पर उस अधिकारी की पहचान की गई, जिसकी लापरवाही से पार्सल पहुंचने में देरी हुई थी। इसी तरह पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के ाqट्वटर अकाउंट पर ग्राहक अपनी शिकायत सीधे पहुंचाने लगे हैं। इस्पात मंत्री नरेंद्र िंसह तोमर ने भी एक पखवाड़े पहले अपना पेâसबुक और ाqट्वटर अकाउंट शुरू किया। उनका कहना है कि यह काम उन्होंने जनता से सीधे तौर पर जुड़ने और विकास कार्यों की राह आसान बनाने के लिए किया है।