जनता एक्सप्रेस पटरी से उतरी, 31 की मौत


० आपातकालीन ब्रेक लगाने से हुआ हादसा
० रायबरेली में सुबह ९.३० बजे की घटना
लखनऊ। रायबरेली के पास देहरादून से वाराणसी जा रही जनता एक्सप्रेस (१४२६६) के इंजन सहित दो सवारी डिब्बे पटरी से अचानक उतर गए। हादसा करीब सुबह ९.३० बजे हुआ। रेलगाड़ी का इंजन और दो डिब्बे पटरी से उतरने के बाद बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। ट्रेन लूप लाइन पर जाकर खेत में चली गई। बछरावां स्टेशन के पास दुर्घटना में ३१ की मौत, १५० से ज्यादा लोग घायल हैं। रेलवे सूत्रों के अनुसार हादसा उस समय हुआ जब ट्रेन चालक द्वारा आपातकालीन ब्रेक लगाये जाने से रेलगाड़ी के दो डिब्बे पटरी से उतर गए। रेलवे के जीएम अजय वूâथिया ने दुर्घटना में ३१ लोगों के मारे जाने की आधिकारिक पुाqष्ट की। उन्होंने बताया कि अभी भी कई यात्रियों के दुर्घटनाग्रस्त डिब्बों में पंâसे होने की आशंका है। मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है। घटना के कुछ ही देर बाद राहत एवं बचाव दल के साथ मेडिकल टीमें भी पहुंच गई थी। घायलों का बछरावां के प्राथमिक वेंâद्र, जबकि गंभीर को रायबरेली तथा लखनऊ भेजकर इलाज कराया गया। रेलवे अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक पटरी से उतरी ४ बोगियो में से २ बोगियां एक दूसरे में घुस गर्इं हैं। कटर मंगाकर इन बोगियों के दरबाजों को काटा गया। दो बोगियां जो आपस में टकराई हैं उनमें एक जनरल और एक स्लीपर है। जनरल बोगी के लोग बोगी के अंदर हैं।
० रेल मंत्री ने दिये जांच के आदेश
रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने घटना पर दुख प्रकट किया है। बताया जा रहा है कि रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा दुर्घटनास्थल पर हादसे का जायजा लेने के लिए जाएंगे। हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं और हेल्पलाइन नंबर जारी किया हैं। ट्रेन देहरादून से वाराणसी जा रही थी। सिन्हा ने बताया कि दुर्घटनास्थल पर मदद पहुंच चुकी है। हादसे के जांच के आदेश दिये है।
० यूपी सरकार ने दिया मुआवजा
उत्तर प्रदेश सरकार ने हादसे में मृतकों के परिजनों को २-२ लाख रु और घायलों को ५०-५० हजार रु मुआवजा देने की घोषणा है।
० सोनिया ने जताया खेद
रायबरेली कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र भी है। इस बारे में सोनिया ने कहा कि इस दुखद हादसे की खबर सुन कर बहुत धक्का लगा। मैं इस हादसे में मारे गए और घायल हुए लोगों के प्रति संवेदना प्रकट करती हूं। मुझे उम्मीद है कि सरकार रेल दुर्घटना में प्रभावित हुए लोगों की अच्छी देखभाल और उचित मुआवजा देगी।
० हेल्पलाइन नंबर
वाराणसी में रेलवे हेल्पलाइन नंबर- ६२७२६ और बीएसएनएल नंबर- ०५४२ २५०३८१४ (मुख्य पूछताछ रूम)
वारणसी जंक्शन रेलवे हेल्पलाइन नंबर- ६२७२६ और बीएसएनएल नंबर- ०५४२ २५०३८१४ रायबरेली- ०५३५ २२११२२४, वाराणसी- ०५४२ २५०३८१४, प्रतापगढ़- ०५३४ २२२३८३०, लखनऊ- ९७९४८३०९७३, बछरावां- ९७९४८३३८०९,९७९४८४५६२१

 

रेल हादसा में मृतकों को दो लाख, घायलों को ५० हजार का मिलेगा मुआवजा
नई दिल्ली । रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने उत्तर प्रदेश में रायबरेली के बछरावां रेलवे स्टेशन के पास देहरादून से वाराणसी जा रही जनता एक्सप्रेस के चार डिब्बों के पटरी से उतरने की घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिये हैं। मृतकों के परिजनों को दो दो लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों को ५०-५० हार रुपये और मामूली रूप से घायलों को २०-२० हार रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है। इस दुर्घटना में कम से कम ११ यात्रियों की मृत्यु हुई है जबकि ५० से अधिक अन्य घायल हुए है। रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा और रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ऐ.क़े मित्तल घटनास्थल की ओर रवाना हो गये हैं जबकि पुलिस, प्रशासन और रेलवे के अन्य आला अधिकारी मौके पर पहले ही पहुंच चुके हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने संसदीय क्षो में हुई इस दुर्घटना पर दुख जताया है और मृतकों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। रेल मंत्री प्रभु ने कहा कि उन्हें संसद में रहने की अनिवार्यता को देखते हुए रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष एवं शीर्ष अधिकारियों को बछरावां जाने के आदेश दिये हैं। रेल राज्य मंत्री भी वहां जा रहे हैं। मुआवजा घोषित किया गया है। वह स्वयं पूरी स्थिति पर निगरानी रखे हुए हैं। रेलवे महाप्रबंधक मंडल रेल प्रबंधक, मेडिकल टीम और राहत एवं बचाव दल के साथ उनका सीधा संपर्क कायम है। उन्होंने बताया कि जांच रिपोर्ट को सार्वजनिक किया जायेगा। दुर्घटना के कारणों के बारे में रेलवे बोर्ड के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने बताया कि प्रथम दृष्टया पता चला है कि गाड़ी को बछरावाँ स्टेशन पर रुकना था लेकिन लोको पायलट संभवत: रुकने की बात भूल गया और उसने सिगनल तोड़ कर गाड़ी बढ़ा दी। उधर घटना स्थल पर मौजूद मंडल रेल प्रबंधक ए के लोहाटी ने बताया कि दुर्घटना में ११ लोगों की मृत्यु हुई है। चूंकि अभी एक डिब्बे को खंगालना बाकी है इसलिए मृतकों की संख्या और बढने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है। उनका कहना था कि घायलों की संख्या ५० से अधिक है। दूसरी ओर प्रत्यदर्शियों ने बताया कि पटरी से उतरकर एक डिब्बे के गड्ढे में जा गिरने से हताहतों की संख्या बढी है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मृतकों की संख्या २० से अधिक होने की आशंका है। दो डिब्बे बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुए हैं। उन्होंने बताया कि हादसे के समय रेलगाडी की रफ्तार तेज थी।