छगन भुजबल 14 मार्च को प्रवर्तन निदेशालय तलब


नई दिल्ली ।  प्रवर्तन निदेशालय ने धन शोधन मामले की जांच के संबंध में महाराष्ट्र के पूर्व लोक निर्माण मंत्री एवं राकांपा नेता छगन भुजबल को १४ मार्च को तलब किया है। निदेशालय मामले में धन शोधन रोकथाम कानून के तहत उनके बयान दर्ज कर सकता है।
ज्ञात रहे निदेशालय ने महाराष्ट्र सदन निर्माण घोटाले और कलीना भूमि हड़पने से संबंधित मामले की जांच के लिए भुजबल परिवार से जुड़े लोगों और अन्य के खिलाफ मुंबई पुलिस की प्राथमिकियों के आधार पर धन शोधन रोकथाम कानून के प्रावधानों के तहत दो प्राथमिकी दर्ज की थीं। निदेशालय ने धन शोधन रोकथाम कानून के तहत मामला दर्ज किया था, जिसमें भुजबल और उनके कुछ सहयोगियों तथा पूर्व मंत्री के पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके भतीजे समीर का नाम शामिल है। प्रवर्तन निदेशालय ने इसी मामले में पिछले महीने भुजबल के पुत्र पंकज से भी पूछताछ की थी।
इस मामले में करीब २८० करोड़ रुपये मूल्य की तीन संपत्तियों को कुर्वâ करने के आदेश भी आए हैं। प्रवर्तन निदेशालय ने भुजबल, पंकज, समीर और कुछ अन्य लोगों से संबंधित नौ परिसरों पर दो बार छापे मारे थे।