गोगोई से नहीं गरीबी से लड़ाई है मेरी : मोदी


तिनसुकिया। असम विधानसभा चुनाव में भाजपा के चुनाव प्रचार के लिए असम पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम सरकार पर जमकर हमला किया। उन्होंने कहा कि मैं मुख्यमंत्री तरुण गोगोई से लड़ने में विश्वास नहीं रखता, मैं गरीबी से लड़ना चाहता हूं। उन्होंने मुख्यमंत्री की बढ़ती उम्र को लेकर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि हमारे संस्कार हैं कि छोटे बुजुर्गों से नहीं लड़ते, उनसे आशीर्वाद लेते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें भ्रष्टाचार, बुराई, असम की बर्बादी के खिलाफ लड़ना है।प्रधानमंत्री शनिवार को दो दिवसीय असम के दौरे पर पहुंचे। पहले दिन वे पांच चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे जबकि रविवार को दो चुनावी सभाओं में हिस्सा लेंगे। ऊपरी असम के तिनसुकिया जिला शहर के राजीव गांधी खेल मैदान में प्रधानमंत्री ने भाजपा की पहली चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि देश जब आजाद हुआ था तो उस समय असम देश के पांच विकसित राज्यों में शामिल था, लेकिन आज 60 वर्ष बाद देश के सबसे गरीब पांच राज्यों में शामिल है। इसके लिए सत्ता में बैठी सरकारें जिम्मेदार हैं। श्री मोदी ने 50 हजार से अधिक संख्या में उपस्थित लोगों से भाजपा को पांच साल का मौका देने की गुहार की। उन्होंने कहा कि भाजपा को 5 वर्ष दीजिए, 60 वर्ष की बीमारी को सर्वानंद सोनोवाल व उनकी टीम दूर करेगी। उन्होंने कहा कि इस चुनाव के बाद असम को एक नौजवान मुख्यमंत्री मिलने वाला है, जो राज्य के विकास के लिए काम करेगा। उन्होंने कहा कि असम के चुनाव में केंद्र की सरकार के साथ ही मेरा निजी तौर पर सबसे बड़ा नुकसान होने वाला है। वह नुकसान मेरे कैबिनेट में बेहतर काम करने वाले मंत्रियों में से एक सोनोवाल को असम की सेवा के लिए मुझे देने पड़ेगा। जनसभा में मौजूद भारी भीड़ को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आपकी उपस्थित यह बता रही है कि राज्य में परिवर्तन की लहर दौड़ रही है। राज्य में भाजपा की सरकार बननी तय है।