गृह मंत्रालय में अफसरों को ‘सूसू कॉर्ड’


नई दिल्ली। वेंâद्रीय गृह मंत्रालय में इन दिनों ‘सूसू कॉर्ड’ बंट रहे हैं। यह स्मार्ट कॉर्ड सिर्पâ अफसरों को दिए जा रहे हैं। वह इनके जरिए ही उन शौचालयों का प्रयोग कर सवेंâगे जो ‘कॉरिडोर ऑफ पावर’ में ाqस्थत हैं। गृह मंत्रालय में पुरुषों के लिए जो शौचालय बने हुए हैं उनमें दो सिर्पâ अफसरों के लिए हैं। इन्हें इस्तेमाल करने के लिए अफसरों को चाबी दी गई थी, लेकिन इन चाबियों की डुाqप्लकेट चाबियां बना ली गर्इं और छोटे अफसर भी इन शौचालयों का प्रोयग करने लगे। नौकरशाही को यह हरगिज मंजूर नहीं था, इसलिए अब पुâल प्रूफ स्मार्ट कॉर्ड बनाए गए हैं। यह स्मार्ट कार्ड संयुक्त आयुक्त और उनके ऊपर के अफसरों को दिए गए हैं। नॉर्थ ब्लाक में गृह मंत्रालय, र्कािमक मंत्रालय और आईबी के दफ्तर हैं। इन सभी के अफसरों को यह कॉर्ड दिए गए हैं। एक सीनियर अफसर ने मजाक बनाते हुए कहा ’’अब कॉर्ड के जरिए ही सूसू करने जा सकते हैं। अगर कॉर्ड नहीं है तो नहीं, इसीलिए इसे अब हम आई-कार्ड की तरह गले में टांगकर रखते हैं।’’ नॉर्थ ब्लाक में मजाक चल रहा है कि वेंâद्र सरकार ने अभी तक नागरिकों को आधार कॉर्ड दिए लेकिन गृह मंत्रालय सूसू कॉर्ड भी बांट रहा है। इसे दरवाजे पर दूर से दिखाओ, दरवाजा खुल जाता है। हालांकि यह स्मार्ट कॉर्ड सिर्पâ पुरुषों के शौचालय में इस्तेमाल होंगे, महिलाओं के शौचालय में अभी भी चाबी इस्तेमाल होती है।