गुरदीप की मौत की सजा पर सस्पेंस


नई दिल्ली, इंडोनेशि‍या में ड्रग्स तस्करी के आरोप में मौत की सजा पाए भारतीय नागरिक गुरदीप सिंह को बचाने की भारत सरकार की कोशि‍शों को गहरा झटका लगा है. इंडोनेशिया सरकार ने परिजनों, मानवाधिकार समर्थकों और विदेशी सरकारों की माफी की सभी अपील ठुकरा दी हैं. गुरदीप समेत 14 लोगों को मौत की सजा सुनाई गई है, जबकि गुरुवार को इनमें से चार को मौत की सजा दे दी गई. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गुरदीप की पत्नी से फोन पर बात की है. घर में मातम का माहौल है, लेकिन पत्नी और परिवार के अन्य सदस्यों को अब भी आशा है कि पिछली बार की तरह इस बार भी मौत की सजा की व्यवस्था टल जाएगी. जालंधर के हरने वाले 48 साल के गुरदीप को 300 ग्राम हेरोइन के साथ 2004 में गिरफ्तार किया गया था. खबरों के मुताबिक, इंडोनेशिया के डिप्टी अटॉर्नी नजरल नूर रामचंद ने बताया कि जिन चार लोगों को गुरुवार रात मौत की सजा दी गई, उनमें से दो नाइजीरिया, एक सेनेगल से और एक इंडोनेशियाई है. बाकी 10 लोगों की सजा की तारीख के बारे में फिलहाल कोई फैसला नहीं लिया गया है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार रात को ट्वीट कर कहा था कि भारत सरकार गुरदीप की सजा रुकवाने के लिए पूरी कोशिश कर रही है.