खालिद ने कबूला-अफजल के समर्थन मं लगाए थे नारे


नई दिल्ली । जेएनयू में भारत विरोधी नारे लगाने के आरोपी छात्रों में से दो ने मंगलवार को थाने में सरेंडर कर दिया। पूरे घटनाक्रम के मास्टरमाइंड बताए जा रहे उमर खालिद के साथ ही अनिर्बान देर रात वैंâपस से बाहर आए और पुलिस को सरेंडर कर दिया। शेष तीन आरोपी अब भी वैंâपस के अंदर ही हैं। आज खालिद और अनिर्बान की पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया जाएगा। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी में खालिद ने अफजल गुरू के समर्थन में नारे लगाने की बात कबूल की है।
रात ११ बज कर ३५ मिनट उमर और अनिर्बान निजी जीप पर यूनिर्विसटी से बाहर निकले। विश्वविद्यालय के सिक्योरिटी गार्ड ने उमर खालिद और अनिर्बान को पुलिस के पास छोड़ दिया। जहां पुलिस की दो गाड़ियां पहले से उनका इंतजार कर रही थीं। ११ बजकर ५५ मिनट पर दोनों ने पुलिस के सामने सरेंडर किया और पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दक्षिण जिला एसटीएफ की टीम उमर और अनिर्बान से पूछताछ कर रही है। उमर खालिद और अनिर्बान की मेडिकल जांच के लिए सुबह ४.४५ पर डॉक्टरों की टीम थाने पहुंची। करीब एक घंटे तक दोनों छात्रों का मेडिकल परीक्षण किया गया। संयुक्त पुलिस आयुक्त आरएस कृष्णैया ने कहा कि देशद्रोह के आरोपी दोनों छात्रों को धारा १२४ए के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है।