कड़ी सुरक्षा के बीच मनाया जा रहा देश में महाशिवरात्रि


-आतंकी अलर्ट पर सोमनाथ में एनएसजी टीम की चौकसी, सांस्कृतिक कार्यक्रम रद्द
नईदिल्ली।देश भर में सोमवार को शिवरात्रि का पर्व पारंपरिक श्रद्धा और हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को शिवरात्रि की बधाई देते हुए ट्वीट किया। इस अवसर पर वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर समेत देश भर के शिव मंदिरों में सुबह से भक्तों का तांता लगा हुआ है। पुलिस के एक सूत्र ने बताया है कि लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के १० आतंकवादी गुजरात के रास्ते भारत में घुस चुके हैं और वे दिल्ली में आतंकवादी हमला कर सकते हैं। इस सूचना के मद्देनजर सोमनाथ में कड़ी सुरक्षा के बीच पूजा हो रही है। वहीं दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, सायबराबाद और बंगलुरु के पुलिस कमिश्नरों को शनिवार को ही अलर्ट जारी किया है, जिसमें कहा गया है लश्कर आतंकी भारत में बड़ा आतंकी हमला करने की फिराक में हैं। यह अलर्ट राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, यूपी, एमपी और हरियाणा के डीजीपी को भी भेजा गया है। राष्ट्रीय राजधानी में महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों, महत्वपूर्ण भवनों और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दिल्ली पुलिस को संभावित आतंकवादी हमले की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा के ये बंदोबस्त किए गए हैं। सभी बड़े मॉल, अस्पताल, स्वूâल और कॉलेजों के आसपास कड़ी निगरानी रखी जा रही है। उधर गुजरात में एनएसजी की ४ टीमोंंं ने सभी महत्वपूर्ण स्थानों, संवेदनशील औद्योगिक स्थलों और र्धािमक स्थानों पर सुरक्षा बढ़ाने का परामर्श जारी किया गया है। गुजरात के डीजीपी पीसी ठाकुर ने गांधीनगर में एनएसजी के अधिकारियों के साथ बैठक कर घोषणा की कि एक टीम को गिर सोमनाथ जिले में सोमनाथ मंदिर की सुरक्षा बढ़ाने के लिए भेजा गया है। ठाकुर ने शनिवार रात आदेश जारी कर सभी पुलिसर्किमयों की छुट्टी रद्द कर दी। उन्होंने कहा, कि एनएसजी की चार टीम शनिवार रात गांधीनगर पहुंची। इनमें से तीन गांधीनगर में रहेगी जबकि एक टीम सोमनाथ जाएगी। हर टीम में ५० से ९० सुरक्षाकर्मी होते हैं। महाशिवरात्रि उत्सव की पूर्व संध्या पर गुजरात के साथ ही अन्य महानगरों और जम्मू-कश्मीर में भी हाई अलर्ट जारी किया गया था। कच्छ और अन्य स्थानों पर छापेमारी की गई और महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों, संवेदनशील इलाकों व मशहूर सोमनाथ मंदिर सहित सभी प्रमुख मंदिरों में सुरक्षा बढ़ाने के साथ सभी सांस्कृतिक कार्यक्रमों को रद्द कर दिया गया है। गौरतलब है कि शनिवार को गुजरात के भुज में संदिग्ध नाव बरामद होने के बाद आईबी ने राज्य में आतंकियों के घुसपैठ को लेकर हाई अलर्ट जारी कर दिया था।