कैराना पलायन : जांच करने पहुंची भाजपा की टीम


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कैराना से हिंदुओं के पलायन मामले की जांच के लिए भाजपा का 9 सदस्यीय दल बुधवार को यहां पहुंच गया। दल यहां की स्थिति की जानकारी लेने के बाद रिपोर्ट पार्टी अध्यक्ष को सौंपेगा। वहीं केंद्र सरकार ने प्रदेश सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार को पत्र लिखकर आरोपों का सत्यापन करने और जल्द से जल्द विस्तृत रिपोर्ट भेजने को कहा है।
कैराना से हिन्दुओं के पलायन मामले में एक नया मोड़ आ गया है। भाजपा सांसद हुकुम सिंह मंगलवार को अपनी बात से पलट गए। उन्होंने हुए कहा कि कैराना से हिंदुओं का पलायन सांप्रदायिक मुद्दा नहीं है बल्कि इसका कानून व्यवस्था की स्थिति से अधिक लेना देना है और जिन परिवारों को अपने घर छोडऩे पड़े उनकी संख्या 400 से 500 तक हो सकती है। सिंह ने पहले 346 परिवारों की सूची की थी और कहा था कि इन्हें इस कस्बे को छोडऩे पर मजबूर किया गया था। यहां 85 प्रतिशत मुस्लिम आबादी रहती है। 2013 में यहां सांप्रदायिक दंगे हुए थे। कैराना शामली जिले में पड़ता है। हालांकि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस मामले में भाजपा नेताओं पर झूठ बोलने का आरोप लगा रहे हैं।