केरल में मानसून ने दी दस्तक


मौसम विभाग के मुताबिक केरल में मानसून पहुंच गया है. मौसम विभाग ने यहां 9 जून तक मानसून आने का अनुमान लगाया था. केरल के साथ-साथ लक्षद्वीप में भी मानसून आ गया है.

मंगलवार को मौसम विभाग ने कहा था कि केरल में दक्षिण पश्चिमी मानसून की शुरुआत के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं. केरल के कुछ हिस्सों में पिछले कुछ दिनों से अच्छी बारिश हो रही है. इस दक्षिण पश्चिम मानसून के कुछ ही दिनों अन्य भागों में भी पहुंचने की उम्मीद है.

मानसून के साथ हो रही भारी बारिश से इडुक्की जिले में हुए भूस्खलन से एक 36 साल के व्यक्ति की जान चली गई. मंगलवार रात से राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश हो रही है. लोगों को रात में बारिश के दौरान पहाड़ी सड़कों पर यात्रा से बचने की सलाह दी जा रही हैं.

नहीं पड़ रही ज्यादा गर्मी
मौसम विभाग के निदेशक बी. पी. यादव ने कहा कि देखिये मैं साफ कह दूं कि कोई ज्यादा गर्मी नहीं पड़ रही है. जून के महीने में इतनी गर्मी तो सामान्य है. जून में तापमान 40 के करीब हमेशा रहता है. हां, बंगाल की खाड़ी से हवा के चलते नमी हो रही है जिससे उमस बढ़ रही है. अच्छी खबर ये है कि केरल में मानसून आ चुका है.

होगी अच्छी बारिश
उन्होंने कहा कि अगले 4 दिन में मानसून कर्नाटक पहुंच जाएगा, फिर आंध्र, महाराष्ट्र होता हुआ आगे बढ़ेगा. खुशखबरी ये है कि उत्तर भारत और पूर्वी भारत में मानसून सामान्य से भी ज्यादा अच्छा रहेगा. इस बार अच्छी बारिश देखने को मिलेगी.

लेट हुआ मानसून
दक्षिणी पश्चिमी मानसून सामान्यत: केरल में 1 जून के आसपास सक्रिय होता है. यह तरंगों में पूर्वोत्तर की ओर आगे बढ़ता है और 15 जुलाई के आसपास पूरे देश में फैल जाता है. पिछले साल मौसम विभाग ने 30 मई को मानसून की शुरुआत की भविष्यवाणी की थी, लेकिन असल में मानसून 5 जून को सक्रिय हुआ था.