कासमी बोले, पारर्दिशता पर केजरीवाल ने मुझे निकाला था


बिजनौर। आम आदमी पार्टी में चल रहे मौजूदा विवाद के बीच अन्ना की टीम के पूर्व सदस्य मुफ्ती शमून कासमी ने कहा है कि उन्होंने जब पारर्दिशता और इंडिया अगेन्स्ट करप्शन को मिलने वाले चंदे का मामला उठाया था तो अरविन्द केजरीवाल ने उन्हें भी अन्ना की टीम से बाहर निकलवा दिया था। कासमी ने मीडिया को बताया कि वह अन्ना टीम में रहकर जिन मुद्दों को उठा रहा थे, प्रशांत भूषण भी आज उन्हीं मुद्दों को खड़ा कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि जब बैठकों की कार्यवाही में पारर्दिशता लाने और इंडिया अंगेस्ट करप्शन के चंदे को पीसीआरएफ में डालने की बात कही थी, यदि उसी समय लोगों ने उनका साथ दिया होता तो आज आप में तानाशाही की समस्या खड़ी नहीं होती।
कासमी ने कहा कि टीम अन्ना की बैठकों में भी चंद लोग पैâसले करते थे और शेष लोगों का काम उन पर सिर्पâ मुहर लगाना होता था लेकिन वह उस वक्त भी अपना विरोध दर्ज कराते थे और इसलिए केजरीवाल को उनका अन्ना टीम में रहना बर्दाश्त नहीं था।उन्होंने कहा कि आप की शुरूआत से लग रहा था कि यह पार्टी अंतत: सभी दलों को स्वच्छता और पारर्दिशता की राजनीति पर चलने के लिए मजबूर कर देगी मगर इस पार्टी के मौजूदा घटनाक्रम ने स्वच्छ राजनीति की चाह रखने वाले लोगों को निराश कर दिया है।