कांग्रेस के वकील, नेता राज्यसभा में जाने बेताब


नई दिल्ली। भाजपा के वकील, नेता इन दिनों सत्ता की मलाई खा रहे हैं। वहीं कांग्रेस के वकील, नेता पुनर्वास का प्रयास कर रहे हैं। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के वकील, नेता कपिल सिब्बल, पी. चिदम्बरम, आनंद शर्मा और सलमान खुर्शीद राज्यसभा में जाने का जुगाड़ लगा रहे हैं।
कपिल सिब्बल पंजाब से, पी. चिदम्बरम कर्नाटक या उत्तराखंड से, आनंद शर्मा राजस्थान अथवा हिमाचल से राज्यसभा में जाने के प्रयास कर रहे हैं। वहीं उप्र के सलमान खुर्शीद, मनीष तिवारी तथा अश्विनी कुमार भी जुगाड़-तुगाड़ लगाने १० जनपथ के चक्कर काट रहे हैं। कांग्रेस हाईकमान की कृपा किस पर होगी इसको लेकर अटकलों का दौर चल पड़ा है।
वहीं भाजपा के राम जेठमलानी, प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ काले धन के खिलाफ मोर्चा खोलकर अपनी सीट लगभग गंवा बैठे हैं। भाजपा का शीर्ष नेतृत्व महेश जेठमलानी को राज्यसभा में भेजकर राम जेठमलानी को चुप कराने का प्रयास कर सकते हैं। यशवंत सिन्हा को चुप कराने में उनके मंत्री पुत्र की भूमिका को देखते हुए भाजपा इस रणनीति पर तैयारी कर रही है।
राजधानी में भाजपा के वकील अरुण जेटली, रविशंकर प्रसाद, सुषमा स्वराज, जेपी नड्डा और मुकुल रोहतणी सत्ता पर बने हुए हैं। वकील नेताओं की इतनी दुर्दशा इसके पहले कभी देखने को नहीं मिली।