कश्मीर की वादियों में धुंध का कहर, लेह में सर्वाधिक ठंड


श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में बुधवार सुबह कश्मीर की कई वादियों में गहरी धुंध छाई रही वहीं घाटी के अधिकांश इलाकों में न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई। यहां कहीं कहीं बारिश होने की भी पूर्व संभावना व्यक्त की गई है। श्रीनगर समेत घाटी के कई इलाकों में घना कोहरा छाया रहा। कोहरे के कारण यातायात पर भी असर पड़ा है और इक्का दुक्का वाहन ही नजर आ रहे हैं। वाहन चालकों को सड़कों पर अतिरिक्त सावधानी बरतनी पड़ रही है। हालांकि शहर के बाहरी इलाके में ाqस्थत हवाई अड्डे के आसपास के इलाके में कोहरा न होने के कारण विमान सेवा जारी रहीं। मौसम विज्ञान विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि श्रीनगर में तापमान मंगलवार को शून्य से ०.८ डिग्री सोqल्सयस नीचे था वहीं आज तापमान दो डिग्री गिरकर शून्य से नीचे २.५ डिग्री सोqल्सयस तक चला गया। प्रवक्ता ने कहा कि मशहूर टूरिस्ट रिसोर्ट पहलगाम में न्यूनतम तापमान में तीन डिग्री सोqल्सयस की गिरावट दर्ज की गयी और यहां का न्यूनतम तापमान शून्य से ४.९ डिग्री सोqल्सयस नीचे दर्ज किया गया। दक्षिण कश्मीर के कोकरनाग में तापमान शून्य से २.२ डिग्री सोqल्सयस नीचे दर्ज किया गया।
अधिकारी ने बताया कि कश्मीर घाटी के प्रवेशद्वार शहर काजीवुंâड का न्यूनतम तापमान मंगलवार की तरह शून्य से २.८ डिग्री सोqल्सयस नीचे दर्ज किया गया जबकि गुलमर्ग का न्यूनतम तापमान एक डिग्री बढ़कर शून्य से नीचे ५ डिग्री सोqल्सयस दर्ज किया गया। लद्दाख के लेह शहर का न्यूनतम तापमान शून्य से १३.२ डिग्री सोqल्सयस नीचे दर्ज किया गया वहीं करगिल का न्यूनतम तापमान मंगलवार के मुकाबले आज और दो डिग्री गिर कर शून्य से नीचे १२.४ डिग्री सोqल्सयस पर चला गया। कश्मीर में कड़ाके की ठंड के दौरान ४० दिन तक चलने वाला `चिल्लई कलां’ भी इस माह खत्म हो जाएगा। यह २१ दिसंबर को शुरू हुआ था। इसके बाद २० दिन का `चिल्लई खुर्द’ और १० दिन का `चिल्लई बच्चा’ का समय आता है।