ओलांद के साथ नहीं आ रही गर्लफ्रेंड


नहीं होगी फस्र्ट लेडी की कुर्सी
नई दिल्ली। इस बार गणतंत्र दिवस परेड में प्रâांस के राष्ट्रपति प्रâांस्वा ओलांद मुख्य अतिथि होंगे। वे रविवार को भारत पहुंच जाएंगे, लेकिन २६ जनवरी की परेड के दौरान प्रâांस की फस्र्ट लेडी (अनाधिकृत) नजर नहीं आएंगी। दरअसल, ओलांद की गर्लप्रेंâड जूली गाएट उनके साथ नहीं आ रही हैं। पिछले साल अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा मेहमान बनकर आए थे और उनके साथ अमेरिकी की फस्र्ड लेडी मिशेल ओबामा भी थीं। खास यह भी है कि ओलांद की पूर्व प्रेमिका इस दौरे में उनके साथ रहेंगी। यह प्रेमिका सोशलिस्ट नेता और ओलांद की वैâबिनेट में मंत्री सेगोलेन रॉयल हैं। रॉयल को इकोलॉजी मिनिस्ट्री सौंपी गई है। ओलांद ताजमहल देखने आगरा नहीं जाएंगे। चडीगढ़ में उनके रॉक गार्डन देखने का प्रोग्राम जरूर है, जहां प्रधानमंत्री मोदी साथ होंगे। २५ जनवरी को ओलांद नई दिल्ली में इंटरनेशनल सोलर एनर्जी एलायंस के मुख्यालय का उद्घाटन करेंगे। उस दौरान पूर्व प्रेमिका रॉयल भी साथ होंगी। इससे पहले २००८ में प्रâांस के तत्कालीन राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बनकर भारत आए थे। तब भारत की ओर से कहा गया था कि सरकोजी अपनी गर्लप्रेंâड कार्ला ब्रूनी को लेकर न आएं। प्रâांस ने भारत की बात मान भी ली थी। हालांकि इस बार ओलांद के दौरे से पहले ऐसी कोई शर्त नहीं रखी है। ओलांद के २४-२६ जनवरी के इस दौरे पर जूली के न आने के कारण स्पष्ट नहीं हैं, लेकिन इसी समय उनकी बायोग्राफी प्रâांस की मीडिया में चर्चा में है।