एमसीडी कर्मचारियों ने डिप्टी सीएम के दफ्तर पर फेंका कूड़ा


नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में केजरीवाल सरकार और दिल्ली नगर निगम में रस्साकशी के बीच डेढ़ लाख कर्मचारी दूसरे दिन भी हड़ताल पर हैं। इससे न स्कूलों में पढ़ाई हो पा रही है और न ही सड़कों पर सफाई। हड़ताल का दूसरा दिन है। अब एमसीडी कर्मचारियों ने मंत्रियों के घरों के सामने कूड़ा डालने की तैयारी की है। आज हड़ताली कर्मचारियों ने दिल्ली के उप मुख्यमंत्री के मनीष सिसोदिया के ऑफिस के बाहर जमकर नारेबाजी की और ऑफिस में कूड़ा फेंका। कर्मचारी नारे लगा रहे थे, मनीष सिसोदिया-केजरीवाल हाय-हाय। बच्चे मर गए हाय-हाय। खा गए वेतन हाय-हाय, मोदी-बीजेपी हाय-हाय। एमसीडी कर्मचारियों ने एनएच-२४ भी ब्लाक कर दिया है। एमसीडी कर्मचारी बुधवार से ३ दिन की हड़ताल पर हैं। सफाई कर्मचारी, नर्स और शिक्षक, वेतन न मिलने से नाराज हैं। उन्होंने कल मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर और जंतर मंतर समेत कई जगहों पर प्रदर्शन किया। इस बीच हड़ताल पर गए एमसीडी कर्मचारियों ने जंतर-मंतर से लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर तक प्रदर्शन किया। उधर नगर निगम के तीनों मेयर ने फंड न मिलने का हवाला देकर केजरीवाल सरकार के खिलाफ कोर्ट जाने का फैसला किया है। हालांकि दिल्ली सरकार का कहना है कि उसके ऊपर एक भी पैसा बकाया नहीं है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार ने आरोप लगाया है कि एमसीडी में भ्रष्टाचार के चलते वो अपने कर्मचारियों को सैलरी नहीं दे पा रही है।