एक और वीडियो-जूते साफ करवाते हैं अफसर


देहरादून। पिछले दिनों बीएसएफ और सीआरपीएफ जवान का वीडियो सामने आने के बाद अब एक और जवान का वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियो में सेना के इस जवान ने अफसरों पर अपने घर के काम करवाने और जूते साफ करवाने के आरोप लगाए हैं। जानकारी के अनुसार 42 इंफेंट्री ब्रिगेड में पोस्‍टेड लांस नायक यज्ञ प्रताप सिंह का वीडियो सामने आया है जिसमें उसने आरोप लगाया है कि पीएम, गृहमंत्री और रक्ष मंत्री को शिकायत वाला पत्र लिखने के बाद उसे परेशान किया गया और उसी के खिलाफ जांच शुरू कर दी।

यह कहा है जवान ने

यज्ञ प्रताप ने अपने वीडियो में कहा है कि मैं पिछले 15 साल से सेना में सेवा दे रहा हूं। इस दौरान मैंने देखा कि सेना में अधिकारी जवानों का किस तरह से शोषण करते हैं। इसके लिए मैं काफी दिनों से परेशान था। मेरे लिए हिम्मत जुटाना मुश्किल हो रहा था, क्योंकि सारी पावर अधिकारियों के पास है। इसके बाद मैंने सबकुछ सोचते हुए अंत में फैसला किया कि इसके खिलाफ आवाज उठाऊंगा।

जवान के अनुसार 15-06-2016 को मैंने देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, रक्षामंत्री, गृहमंत्री और सुप्रीम कोर्ट को पत्र लिखा। मेरे पत्र के बाद पीएमओ ने हमारे बिग्रेड से जवाब मांगा। पीएमओ ने ब्रिगेड से पूछा की जवान का पत्र आया है, क्या उसके लगाए गए आरोप सही हैं अगर ऐसा है तो उसमें सुधार किया जाए। जब यह पत्र हमारी ब्रिगेड में पहुंचा तो हमारे ब्रिगेड कमांडर अजय पराशबोला, डिप्टी कमांडर बीके जैन, सुबेदार बाबू लाल, सुबेदार मणिराम ने मुझे बुरी तरह से प्रताड़ित किया। मुझे इतना ज्‍यादा परेशान किया गया कि मेरी जगह कोई आम सैनिक होता तो या तो आत्‍महत्‍या कर लेता या अपने अधिकारियों से बदला लेने के लिए कोई कदम उठाता। लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया क्‍योंकि मैं एक सैनिक हूं। मैं अपने किसी कदम से वर्दी को कलंकित नहीं करना चाहता था।’

जवाने ने आगे कहा है कि हमारी ब्रिगेड के अधिकारी कहते हैं कि मैंने देशद्रोह किया है और मुझे कोर्ट मार्शल करके घर भेज देंगे। मैंने सेना की किसी छावनी, ट्रेनिंग, हथियार, सैनिक या उपकरण का इस पत्र में उल्लेख नहीं किया है। ना ही यह पत्र भारत के अलावा दूसरे देश को भेजा है। फिर देशद्रोह का केस कैसे हो सकता है। कुछ और ऐसे वीडियो भेज रहा हूं कि अधिकारी जवानों का शोषण कर रहे हैं। इन वीडियो में जवान अधिकारियों के बच्चे खिला रहे हैं, गाड़ियां साफ कर रहे हैं, गार्डन साफ कर रहे हैं, जूते पॉलिश कर रहे हैं।’

बता दें कि इससे पहले बीएसएफ और सीआरपीएफ के जवानों के भी वीडियो सामने आए थे जिनमें से एक ने खराब खाने की शिकायत की तो दूसरे ने असुविधाओं का मुद्दा उठाया था।