उप्र में प्रियंका गांधी की डिमांड


लखनऊ। उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस दमदारी से उतरने की तैयारी में है। पार्टी ने प्रियंका गांधी वाड्रा को उत्तर प्रदेश की सियासत में सीधे उतारने की योजना बनाई है। हाल ही में प्रियंका ने पार्टी के ब्लाक स्तरीय नेताओं से सीधे रूबरू होकर सियासी टिप्स दिए हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार का चुनाव प्रबंधन संभाल चुके राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर का साथ भी राज्य में कांग्रेस को मिल गया है। अमेठी के कांग्रेसियों के साथ ही सूबे के अलग-अलग कोनों से पार्टी कार्यकर्ता गांधी-नेहरू परिवार से प्रियंका को सक्रिय राजनीति में उतारने की मांग फि र मजबूती से करने लगे हैं। कांग्रेस हाईकमान से जुड़े लोगों के अनुसार उत्तर प्रदेश में इस बार बसपा सुप्रीमो मायावती, मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के हर सियासी वार का जवाब देने के लिए पार्टी की ओर से प्रियंका मौजूद रहेंगी। यह बात अलग है कि सपा ने शुरुआती बढ़त हासिल करते हुए अमेठी सहित सूबे में १४१ उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है और कांग्रेस अभी अपनी रणनीति बनाने में ही जुटी हुई है।
कांग्रेस नेताओं के अनुसार अभी हाल ही में दिल्ली में प्रियंका गांधी वाड्रा ने ब्लाक स्तर के नेताओं व कार्यकर्ताओं से मुलाकात की थी। प्रियंका ने सभी को पार्टी की रीति-नीति व राहुल गांधी के संघर्ष के लिए घर-घर पहुंचाने का निर्देश दिया। गांधी-नेहरू परिवार से जुड़े उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार प्रियंका ने अमेठी-रायबरेली के साथ ही सूबे के अन्य जिलों से भी नेताओं को दिल्ली बुलाया था। सभी से विधान सभा चुनाव को लेकर गंभीरता से बात की।