उत्तर भारत में 6.8 तीव्रता वाले भूकंप के झटके


उत्तर भारत के कई शहरों में रिक्टर स्केल पर 6.8 तीव्रता वाले भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं.

राजधानी दिल्ली में भूकंप के झटके कुछ सेकेंड्स तक रुक-रुककर आए. दिल्ली और उसके आसपास के शहरों में लोग अपने घरों और कार्यालयों से बाहर निकल आए.

जो लोग दफ़्तरों में काम कर रहे थे वो अफ़रातफ़री में अपने दफ़्तरों से बाहर निकल गए.

दिल्ली मेट्रो का संचालन अस्थायी तौर पर रोका गया, जिसे बाद में फिर शुरू कर दिया गया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ नेशनल सेंटर फ़ॉर सीस्मोलॉजी का कहना है कि भूकंप का केंद्र हिंदूकुश पर्वतश्रंखला पर था.

यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक़ भूकंप का पहला झटका अफ़ग़ानिस्तान में ताजिकिस्तान की सीमा के पास भारतीय समयानुसार शाम चार बजे महसूस किया गया.

काबुल और लाहौर और कश्मीर में भी झटके महसूस किए जाने की ख़बरें हैं, जिसके बाद लोग अपने घरों से बाहर निकल आए.

पिछले साल अक्तूबर में रिक्टर स्केल पर 7.5 तीव्रता वाला भूकंप इसी सीमावर्ती इलाक़े में आया था जिसमें क़रीब 300 लोगों की मौत हुई थी.

यूएसजीएस के मुताबिक़ रविवार को आया भूकंप क़रीब धरती से 210 किलोमीटर नीचे आया. 2015 में आया भूकंप भी इसी गहराई से आया था.